लखनऊ :- किस्सों का शहर

Medhaj News 2 Jul 20 , 19:47:41 Health Viewed : 4527 Times
_lucknow_event.jpg

लखनऊ के नवाबी किस्से आपने सुने होंगे, अब कोरोना काल मे लखनऊ का एक किस्सा मशहूर हुआ है। शहर की एक युवती की कोरोना रिपोर्ट उसी नाम की दूसरी युवती से बदलने का है। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव थी वो आज़ाद है और जिसकी नेगेटिव थी वो इलाज करा रही है और कोरोना वॉर्ड में ऐडमिट है। शीशमहल निवासी आबिद इब्राहिम के मुताबिक, उनकी बेटी अलीजा इब्राहीम नोएडा में जॉब करती है और 3 जून को लखनऊ आई है। उसकी तबीयत खराब होने पर चरक अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज से पहले कोरोना जांच के लिए कहा गया। 27 जून को टेस्ट हुआ था और 28 को रिपोर्ट पॉजिटिव आई और बेटी को लोकबंधु अस्पताल में ऐडमिट कर दिया गया। अगले दिन उनके पूरे परिवार की रिपोर्ट निगेटिव आई तो परिवार को शक हुआ। जब अस्पताल दोबारा रिपोर्ट लेने गए तो वहां अलीजा तबस्सुम के नाम की रिपोर्ट दी गई।

इस पर परिवार ने कहा कि बेटी का नाम अलीजा इब्राहीम है तो मामला खुला। उन्होंने सीएमओ कार्यालय में सूचना दी तो वहां कहा गया कि यहां भी अलीजा तबस्सुम का रेकॉर्ड है, जिसमें आपका ब्योरा चढ़ा हुआ है। वहीं, अलीजा तबस्सुम नाम की एक मरीज पॉजिटिव आई है। अब अलीजा इब्राहिम को प्राइवेट वार्ड में रखा गया है और अगले टेस्ट आने तक रुकेगी यदि टेस्ट नेगेटिव आया तो उसे डिस्चार्ज किया जायेगा क्योकि कोरोना वार्ड में रह कर वह पोस्टिव हो सकती है।अलीजा को तीन दिन कोविड अस्पताल में रखने के बाद बुधवार को उसकी जांच का सैंपल लिया गया है। सीएमओ का कहना है कि वह पॉजिटिव ही है। युवती के परिवार का आरोप है कि दूसरी रिपोर्ट पॉजिटिव आ भी जाती है जो अभी नहीं आई है तो इसकी क्या गारंटी है कि यह संक्रमण अस्पताल से नहीं हुआ। क्योंकि तीन दिन उसे कोविड मरीजों के बीच रखा गया है। -एक आर्य

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story