सेहत और स्वास्थ्य

घरेलू उपचार जो मानसून में आई फ्लू को रोकने में मदद कर सकते हैं

मानसून का मौसम न केवल चिलचिलाती गर्मी से राहत का एहसास कराता है, बल्कि साथ ही कई बीमारियों को भी साथ लेकर आता है। रुके हुए पानी का संयोजन विभिन्न बीमारियों के लिए प्रजनन स्थल बन जाता है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए एक खतरा पैदा करता है। मानसून में कई तरह के फ्लू भी आते है। यहाँ आई फ्लू को रोकने में कुछ घरेलू उपचार दिए गए है जो बहुत मददगार साबित हो सकते हैं। हमने कुछ घरेलू उपचार सूचीबद्ध किए हैं जो आई फ्लू से निपटने और इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान हमारी आंखों की रक्षा करने में कारगर साबित हुए हैं। लेकिन, अगर समस्या बनी रहती है तो इसके लिए डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

शहद: शहद में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो आंखों के संक्रमण को ठीक करने में मदद करते हैं। आंखों के लिए शहद का उपयोग करने के लिए एक गिलास पानी में 2 चम्मच शहद मिलाएं और इस पानी से अपनी आंखें धोएं। ऐसा करने से आंखों का दर्द और जलन कम होगा।

तुलसी: इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो आंखों के संक्रमण को दूर करने में मदद करते हैं। यह आंखों की जलन और दर्द से राहत पाने में भी मदद कर सकता है। तुलसी के पत्तों को रात भर पानी में भिगो दें और सुबह इस पानी से अपनी आंखें धो लें। 3-4 दिन तक ऐसा करने से आपको दर्द में फर्क महसूस होगा।

हल्दी: इसे भी एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते है। लेकिन, कुछ लोगों को यह पढ़कर आश्चर्य होगा कि हल्दी आंखों के संक्रमण को रोकने में कैसे मदद कर सकती है। हल्दी आँखों के लिए जादू की तरह काम करता है। आपको बस गुनगुने पानी में एक चुटकी हल्दी पाउडर डालकर मिला लेना है और रुई को इस पानी में भिगोकर अपनी आँखों को पोंछ लेना है। इससे आँखों के आसपास मौजूद गंदगी साफ हो जाएगी और दर्द में भी राहत मिलेगी।

गुलाब जल: गुलाब जल भी आई फ्लू से छुटकारा पाने के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते है जो संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। गुलाब जल आंखों को ठंडक भी पहुँचाता है और आंखों को साफ भी करता है। आँख में गुलाब जल की दो बूंदें डालें और उन्हें एक मिनट के लिए बंद कर दें। आपको दर्द और जलन में तुरंत राहत महसूस होगी।

ग्रीन टी बैग्स: ग्रीन टी में अधिक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो आँख की सूजन और दर्द को कम करने में मदद कर सकती है। इस उपाय के लिए आप ग्रीन टी बैग्स को गुनगुने पानी में डुबोएं और फिर दोनों आंखों पर रखें। आप टी बैग्स को फ्रिज में ठंडा करके भी अपनी आंखों पर रख सकते है।

मानसून में फ्लू वायरस आसानी से फैलते हैं, इसलिए व्यक्तिगत स्वच्छता का ध्यान रखें। बार बार साबुन से हाथ धोना, उचित दूरी से खांसना आदि को ध्यान में रखें। यदि आपको फ्लू के लक्षण दिखाई दें, तो किसी वैद्यकीय विशेषज्ञ की सलाह लेना भी अत्यंत महत्वपूर्ण है। इन घरेलू उपचारों के साथ साथ अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना भी जरूरी है ताकि आप फ्लू वायरस और अन्य संक्रामक बीमारियों से बच सकें।

Read more….सुबह बासी मुंह पानी पीने से मिलते हैं ये जबरदस्त फायदे, जान लीजिए…बहुत काम आएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button