मास्क न पहनने पर लगेगा 2000रुपये का जुर्माना

Medhaj News 21 Nov 20 , 18:11:23 India Viewed : 1133 Times
Mask.jpg

कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली सरकार ने गुरुवार को कई कदम उठाए हैं। मास्क न पहनने वालों पर जुर्माने की राशि बढ़ा दी है। बगैर मास्क घर से बाहर निकलने पर अब 500 रुपये की जगह 2000 रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा। दूसरी तरफ दिल्ली के अस्पतालों में पूर्व नियोजित गैर गंभीर किस्म की सर्जरी भी टाल दी गई है। साथ ही निजी अस्पतालों के 80 फीसदी आईसीयू व 60 फीसदी सामान्य बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने उपराज्यपाल को दिल्ली की मौजूदा हालात की जानकारी दी। अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, बातचीत में सहमति बनी कि ज्यादातर लोग मास्क पहन रहे हैं, लेकिन अभी बहुत से लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं। इसलिए बिना मास्क पहने बाहर निकलने वालों पर कड़ाई करने का निर्णय लिया गया है। अब बिना मास्क पहने बाहर निकलने वालों पर 500 की बजाय 2000 रुपये जुर्माना लगेगा।

केजरीवाल ने सभी सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं और राजनीतिक दलों से अपील की कि वह अपने कार्यकर्ताओं को सड़क पर उतारें और बिना मास्क पहन कर बाहर निकलने वाले लोगों को मास्क पहनने के लिए जागरूक करें। साथ ही सभी लोगों को मास्क बांटे। मास्क पहनने वाले कोरोना से काफी हद तक बच सकते हैं। दिल्ली सरकार के इस फैसले से लोग बहुत खुश हैं और उन्होंने सरकार के इस फैसले का खुले दिल से स्वागत किया है। लोगों का मानना है कि सरकार ने ये कदम उनके भले के लिए ही उठाया है। लोगों का मानना है कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती हम कोरोना को लेकर ढिलाई नहीं कर सकते। अगर हमें मास्क कोरोना से बचाता है तो इसे क्यों न पहना जाए। कुछ तो ऐसे लोग हैं जो कहते हैं कि सरकार को 5000 का जुर्माना लगा देना चाहिए ताकि लापरवाह लोग मास्क लगाना शुरू कर दें।

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि फिलहाल दिल्ली में 7,461 कोविड बेड हैं। यह बेड दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में उपलब्ध हैं। जबकि आईसीयू बेड की संख्या 446 है। सरकार ने कोविड के समान्य और आईसीयू बेड बढ़ाने के लिए कुछ अहम निर्णय लिए हैं। अभी पिछले हफ्ते हम लोगों ने कोर्ट की इजाजत के बाद करीब 30 से 32 अस्पतालों के 80 प्रतिशत बेड हम लोगों ने कोरोना के लिए चिंहित कर दिए थे। अब यह आदेश दिल्ली के सभी प्राइवेट अस्पतालों के ऊपर लागू किए जा रहा है कि दिल्ली के सभी प्राइवेट अस्पतालों के 80 प्रतिशत आईसीयू बेड कोरोना के लिए सुरक्षित किए जा रहे हैं। इससे करीब 400 और बेड निजी अस्पतालों में उपलब्ध होंगे। दिल्ली के अस्पतालों में जो कोविड के समान्य बेड हैं, वो अभी तक प्राइवेट अस्पतालों में 50 प्रतिशत कोविड के लिए सुरक्षित थे। अब कुछ दिनों के लिए इसे बढ़ा कर 60 प्रतिशत बेड कोरोना के लिए सुरक्षित किया जा रहा है। यह आदेश कोरोना माहामारी के पीक तक लागू रहेगा।


    2
    0

    Comments

    • Good step

      Commented by :Md shahnawaz
      21-11-2020 20:51:49

    • Ok

      Commented by :Aslam
      21-11-2020 20:05:43

    • Ok

      Commented by :Aslam
      21-11-2020 19:53:45

    • Good

      Commented by :Saddam husain
      21-11-2020 18:33:50

    • Nice

      Commented by :Kamlesh Singh
      21-11-2020 18:24:23

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story