हथियारों से लैस भारत को 6 राफेल अगले महीने मिल सकते हैं

Medhajnews 29 Jun 20 , 17:52:13 India Viewed : 1449 Times
rafale_jet_main.jpg

नई दिल्ली: कोरोना से लड़ाई के बीच भारत को अब सुपर पावर मिलने वाला है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन से जारी तनाव के बीच भारतीय वायुसेना की ताकत में इजाफा होने जा रहा है। भारत को अगले महीने के आखिर तक पूरी तरह हथियारों से लैस 6 राफेल फाइटर जेट मिल सकते हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि इन राफेल में 150 किलोमीटर तक टारगेट हिट करने वाली मीटियर मिसाइल भी रहेगी। इससे चीन एयरफोर्स के मुकाबले भारतीय एयरफोर्स को काफी बढ़त हासिल होगी।



सूत्रों ने बताया- वायुसेना के पायलटों की फ्रांस में जारी ट्रेनिंग पर काफी कुछ निर्भर करता है। जुलाई के आखिर तक हमें 6 राफेल मिल सकते हैं। यह पूरी तरह हथियारों से लैस होंगे और कुछ ही दिनों के भीतर ये किसी ऑपरेशन में शामिल होने के लिए तैयार होंगे। हालांकि, पहले प्लान यह था कि अम्बाला में 4 राफेल आएंगे। इनमें 3 दो-सीटर ट्रेनर वर्जन एयरक्राफ्ट होंगे, जिनके जरिए अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर पायलटों को ट्रेनिंग दी जाएगी। अम्बाला ही भारत में राफेल जेट्स का पहला बेस होगा। दूसरा बेस बंगाल के हाशीमारा में होगा।



जानकारी के मुताबिक, भारत आने वाले इन एयरक्राफ्ट की संख्या ज्यादा हो सकती है। इस पर फैसला मौजूदा जरूरत और फ्रांस में ट्रेनिंग ले रहे पायलटों की ट्रेनिंग रिक्वायरमेंट को ध्यान में रखकर लिया जाएगा। कोरोनावायरस संक्रमण के हालात में भी एयरफोर्स पूरी कोशिश कर रही है कि जेट्स के भारत पहुंचने से पहले जमीनी इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार कर लिया जाए। एयरफोर्स के एक अधिकारी ने बताया- विमानों के आने पर फैसला जुलाई के बीच में लिया जाएगा। इस दौरान कई फैक्टर्स को ध्यान में रखना होगा। पहला राफेल उड़ानें के लिए 17 गोल्डन एरो स्क्वॉड्रन के कमांडिंग ऑफिसर का चयन किया गया है। उनके साथ एक फ्रांसीसी पायलट भी रहेगा।



फ्रांस से मिडिल ईस्ट आने के दौरान फ्रांस एयरफोर्स का एक टैंकर एयरक्राफ्ट हवा में ही राफेल की री-फ्यूलिंग करेगा। मिडिल ईस्ट में विमान उतरेगा और फिर भारत के लिए उड़ान भरेगा। इस दौरान इंडियन एयर फोर्स का विमान राफेल की मिड एयर री-फ्यूलिंग करेगा। राफेल फ्रांस से सीधे भारत के लिए उड़ान भर सकता है, लेकिन छोटे कॉकपिट में 10 घंटे तक की उड़ान पायलट के लिए काफी थकाने वाली हो जाएगी।



आपको बताते चले कि  भारत ने सितंबर 2016 में फ्रांस के साथ 36 राफेल की डील की थी। यह डील 60 हजार करोड़ रुपए की है। एयर चीफ मार्शल बीएस भदौरिया तब डिप्टी चीफ ऑफ एयर स्टाफ थे। पाकिस्तान और चीन को ध्यान में रखते हुए मीटियर और स्काल्प जैसी मिसाइल से लैस राफेल भारत को एयर स्ट्राइक और ऐसे ऑपरेशन बढ़त हासिल होगी।


    13
    0

    Comments

    • Good

      Commented by :Ajay Kumar Azad
      30-06-2020 10:29:12

    • Good

      Commented by :Sandeep kumar yadav
      30-06-2020 10:10:56

    • Jaruri h... Good

      Commented by :Shrayesh Kumar Pandey
      30-06-2020 07:00:29

    • Good

      Commented by :Gaurav Singh, haridwar, (uttrakhand)
      30-06-2020 05:02:25

    • Woooow

      Commented by :Harshit Uttarakhand
      29-06-2020 23:26:47

    • It's good decision

      Commented by :Mohit Kumar
      29-06-2020 23:26:15

    • Very good

      Commented by :Sant Vijay Yadav
      29-06-2020 23:12:39

    • Good

      Commented by :Faish Uddin
      29-06-2020 22:02:58

    • Good news

      Commented by :Gaurav Lohani
      29-06-2020 21:43:44

    • Good

      Commented by :Pawan Kumar Tiwari
      29-06-2020 20:50:05

    • Good news

      Commented by :Amit Kumar
      29-06-2020 20:39:13

    • Good

      Commented by :Aslam
      29-06-2020 20:31:26

    • Good

      Commented by :Ashish kumar nainital
      29-06-2020 19:56:19

    • This will definitely strengthen our air force.

      Commented by :Rajeev Kumar
      29-06-2020 18:35:20

    • Very nice for strong India..........

      Commented by :Deependra Yadav
      29-06-2020 18:16:15

    • Good

      Commented by :Ajeet Singh
      29-06-2020 18:00:35

    • Badiya hai

      Commented by :Aditya singh
      29-06-2020 17:59:22

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story