जीतेगा तो भारत ही

Medhaj news 1 Jun 20 , 18:02:15 India Viewed : 1453 Times
chinavsind.png

किसी भी देश की उन्नति में शांति का महत्वपूर्ण योगदान होता है। मगर शांति हो कैसे  जब आपके पास चीन और पाकिस्तान, और नेपाल जैसे  धूर्त देश हो । शांति कैसे आये इसका एक ही हल है। अपने दुश्मनों को शांत कर दो दोस्त बना कर या फिर मारपीट करके। अब भारत के पड़ोसी दोस्त लायक तो है नही तो फिर युद्ध ही स्थाई विकल्प है क्योकि कूटनीति रोज बदलती रहती है अपने फायदे के अनुसार, इसलिए आपका ताकतवर होना जरूरी है, उससे ज्यादा,आप ताकतवर है ये दुश्मनों को पता चले। बेशक डिजिटल भारत के सबसे ज्यादा पैसा चीन का लगा है, मगर शर्तो के अनुसार, भारत से ज्यादा लड़ने की क्षमता रखता है। चीन के पास 2 वॉर शिप  है तो भारत के पास 1, उसके पास 76 समरीन है तो भारत के पास 16, उसके पास एयरक्राफ्ट 3187 है तो भारत के पास 2082, उसके पास सैनिक 3462500 है तो भारत के पास 2693000 है,उसके पास 1004 हेलीकॉप्टर है तो भारत के पास 692, उसके पास 13050 टैंक है तो भारत के पास 4184,  फिर भी युद्ध अगर होता है तो भारत जीतेगा । उसके कारण है पाकिस्तान के पास 1971 की लड़ाई में हमसे ज्यादा अच्छे  और ज्यादा हथियार थे और साथ मे चीन भी था मगर जीता भारत। भारत 1948 , 1962, 1965,, 1971, 1999 का युद्ध कौशल है और पहाड़ पर लड़ने का तजुर्बा भी जो चीन के पास नही है। 1962  को छोड़ दिया जाए,  जब वह वियतनाम से 1979 में  लड़ा था तब उसे मुँह की खानी पड़ी थीं। जबकि वियतनाम अमेरिका के छूटे हुए हथियार से लड़ा था। इसलिए चीन पर न जीतने का जुनून है न लड़ने का तजुर्बा। चीन ने अपने यँहा दूसरे देशों का पैसा लगवाया है और उसने दूसरो के पैसे का दुरुपयोग करता है , उदाहरण,   वुहान लैब चीन में फ्रांस और अमेरिका ने बनवाई थी, बाद में चीन ने नाता तोड़ लिया।

चीन डरा हुआ है इसलिए वह अपने यँहा के अखबारों में धमकी भरे लहजे में सबक सिखाने की बातें लिख रहा है जबकि भारत के अखबार  ख़ामोश हैं ।चीन को 1979 के वियतनाम युद्ध से सबक लेना चाहिए। परमाणु शक्ति संपन्न भारत देश से उलझने से चीन मुश्किल में पड़ सकता है। अमेरिका के नेशनल सिक्युरिटी एनालिस्ट और लेखक गिलबर्टो विल्लहरमोसा का कहना है कि 1979 में चीन ने सीमा विवाद को लेकर वियतनाम को सबक सिखाने के लिए लड़ाई शुरू की थी लेकिन वह उसके लिए बुरा स्वप्न साबित हुआ। चीनी सैनिक उस युद्ध को 'दर्दनाक सीमित युद्ध' या 'घोस्ट वॉर' के रूप में याद करते हैं। अमेरिकी सेना में काम कर चुके विल्लहरमोसा एक पूर्व चीनी सैनिक जिआओबिंग ली के हवाले से बताते हैं कि वियतनाम सीमा संघर्ष के समय,चीनी सैनिक अधिक संख्या में  हताहत होने से अचंभित थे। उस संघर्ष में चीन के लगभग 26 हजार सैनिक हताहत हुए थे।



इस संघर्ष में चीन के 420 टैंक और सैन्य वाहन तबाह हो गए जबकि वियतनाम के 185 ही हुए। यूरोपीय विश्लेषकों का भी मानना है कि वियतनामी सेना ने चीनी सैनिकों से जोरदार लोहा लिया था और उन पर भारी पड़े थे। विल्लहरमोसा ने लिखा है कि चीन को भारत को हल्के में नहीं लेना चाहिए। आज की भारतीय सेनाएं 1979 की वियतनामी सेनाओं की जैसी नहीं हैं भारत एक परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र है, उसके पास करीब 100 परमाणु हथियार हैं।   रसायनिक हथियार भी हैं। अगर कोई देश भारत के खिलाफ युद्ध जैसा कदम उठाने की  सोचता है, चाहे वह आधुनिक और ताकतवर चीनी सेना ही क्यों न हो, वास्तव में वह मुश्किल में पड़ सकता है। उसके लिए यह शर्मनाक हो सकता है। विल्लहरमोसा ने चीन को याद दिलाते हुए लिखा है कि भारत अमेरिका और रूस का सबसे मजबूत साझेदार है। अगर चीन भारत से लड़ा तो इन दोनो का उतारना निश्चित सा है क्योकि अमरीका अब चीन को उठने नही देना चाहता ताकि वो अमेरिका सेन आंख मिला सके। भारत से उलझना चीन के लिए वियतनाम संघर्ष से बुरा सबक होगा । वियतनाम समेत चीन के अन्य विरोधी देश उसके खिलाफ एशिया में एक सैन्य गठजोड़ बना सकते हैं। अगर चीन भारत के खिलाफ छोटी कार्रवाई  करेगा तो वो युद्ध मे तब्दील होना निचित है क्योंकि अक्साई चीन  भारत के जहन में है। चीन सीमा पर भारत के खिलाफ जितना बुरा सोचता है, वह 1979 के चीन वियतनाम संघर्ष से भी बुरा सबक होगा। चीन अक्साई चीन और लद्दाख इसलिए चाहता है क्योंकि वँहा सोना, यूरेनियम, और ग्रेनाइट, प्रचुर मात्रा में है-----एक आर्य



 



 


    24
    0

    Comments

    • Yes

      Commented by :Vijay Kumar
      04-06-2020 08:27:56

    • Tough fight both countries will go in big loss of economy.

      Commented by :Praveen Jha
      03-06-2020 08:43:09

    • Jay hind

      Commented by :Faish Uddin
      02-06-2020 11:44:52

    • बिल्कुल भारत ही जीतेगा

      Commented by :Aditya Yadav
      02-06-2020 09:33:46

    • भारत एक मजबूत और ताकतवर देश है चाइना को खत्म करने का हिम्मत है!!

      Commented by :Shubham KM
      02-06-2020 09:29:19

    • Absolutely India will win, it's better to defeat China economically rather than having war.

      Commented by :Dhirendra Jha
      02-06-2020 09:07:15

    • Yes

      Commented by :Ravi shankar pandey
      02-06-2020 08:57:02

    • China one thing remember it's not 1962

      Commented by :Ajeet Kumar
      02-06-2020 08:44:02

    • जय हिंद की सेना

      Commented by :Umakant
      02-06-2020 08:42:22

    • Yes

      Commented by :Vijay Kumar
      02-06-2020 07:03:40

    • yes

      Commented by :satyavir singh
      02-06-2020 06:50:18

    • China one thing remember it's not 1962

      Commented by :Sant Vijay Yadav
      01-06-2020 23:28:50

    • But if china will attack first then destroy them with full power ...

      Commented by :Mohit Kumar
      01-06-2020 23:26:05

    • War should not be occur because it will harm our economy, defence personal.....

      Commented by :Mohit Kumar
      01-06-2020 23:24:07

    • For sentiments it's a good thought..but reality is very different..India only has a month of continuous firepower whereas change na has almost 6 times..about 1971 war with Pakistan china could not interfere majorly, apart from China , USA and Britain also sent their ships in Indian Ocean to support Pakistan..they all retracted when Russia openly supported India by sending their warship and submarines and told that whoever attacked India will have to deal with Russia too..try and read more facts about 1971..also Vietnamese are veteran in gorilla war and general war ..fighting with them is a war of attrition for anyone..even USA was not able to conquer them ..so that doesn't mean it will be the same against india..plus Vietnam had almost nothing to loose in terms of development and economy where as India will go 30 years back at least if there is a war with china.

      Commented by :Arun Sehgal
      01-06-2020 23:11:59

    • Jai hind jai Bharat.

      Commented by :Gaurav Singh, Haridwar, (Uttrakhand)
      01-06-2020 22:55:50

    • China has to face tit for tat.

      Commented by :Mahesh Yadav
      01-06-2020 21:16:18

    • Indian army is great

      Commented by :Gaurav Lohani
      01-06-2020 20:56:03

    • MerA BHARAT Mahan

      Commented by :Akash Kishore
      01-06-2020 20:44:59

    • Absolutely

      Commented by :Seeta Ram
      01-06-2020 20:35:15

    • Jai hind ki sena

      Commented by :Mohammad Shaban
      01-06-2020 20:18:48

    • Jay hind

      Commented by :Manmohan
      01-06-2020 20:10:52

    • Of course India will win, but it's better to defeat China economically rather than war.

      Commented by :Dhirendra Jha
      01-06-2020 20:10:50

    • Jai Hind.....

      Commented by :Avinash Deep
      01-06-2020 19:29:49

    • Jai hind

      Commented by :Pawan Mishra
      01-06-2020 19:20:13

    • Great... We will defeat China...!

      Commented by :Pawan Kumar Tiwari
      01-06-2020 18:53:17

    • Magar bharat ko ab apni sany shanti per dhyan dena chahiye

      Commented by :Mahendra Singh
      01-06-2020 18:37:23

    • War is not solutions but if war happen then Both countries will have to bear the loss.

      Commented by :Deependra Yadav
      01-06-2020 18:37:10

    • We will pray for India to win the war if it happen...but we will pray more to not let it be happened.

      Commented by :Bhawana Maurya
      01-06-2020 18:26:32

    • Ok

      Commented by :Vishwajeet Singh
      01-06-2020 18:23:19

    • Right

      Commented by :Chandan kumar Safi
      01-06-2020 18:22:14

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story