advy_govt

जेम्स बॉन्ड की कार डिजाइन करने वाले भारतीय डिजाइनर गिरफ्तार

Medhaj News 30 Dec 20 , 11:09:06 India Viewed : 1894 Times
car.png

ये उन दिनों की बात है जब भारत में कार डिजाइन करना या उसके बारे में कोई सोचता भी नहीं था | भारत की एक पीढ़ी ने कार डिजाइन का मतलब डीसी (DC) को जाना और पहचाना है | डीसी यानी दिलीप छाबड़िया, जिन्हें 29 दिसंबर को मुंबई पुलिस ने पैसों का फर्जीवाड़ा करने के जुर्म में गिरफ्तार किया है |  आइए जानते हैं जेम्स बॉन्ड की एस्टन मॉर्टिन डीबी-8 से लेकर भारत की पहली स्पोर्ट्स कार डिजाइन करने वाले दिलीप छाबड़िया कौन हैं? दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) दो दशक पहले कार मॉडिफिकेशन और कॉन्सेप्ट डिजाइन के मसीहा माने जाते थे | लेकिन उन्होंने कभी कार डिजाइनिंग के बारे में सोचा नहीं था | उन्होंने तो कॉमर्स में डिग्री ली थी | एक दिन किसी ऑटोमोबाइल मैगजीन पर नजर पड़ी तो उसमें कार डिजाइनिंग के कोर्स के बारे में लिखा था | फिर क्या था, उठाया झोला और चल पड़े अमेरिका के पासाडेना स्थित आर्ट सेंटर कॉलेज ऑफ डिजाइन में पढ़ाई करने | 

ट्रांसपोर्टेशन डिजाइन में कोर्स पूरा करने के बाद उन्होंने कुछ समय तक जनरल मोटर्स के साथ काम किया | लेकिन ज्यादा समय वो जनरल मोटर्स में काम नहीं कर पाए | क्योंकि दिलीप का सपना कुछ और था | वो भारत लौट आए | क्योंकि दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) अपने समय से आगे का सोचते हैं | इसके बाद दिलीप ने अपने पिता से मदद मांगी ताकि अपना बिजनेस खड़ा कर सकें | दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) के पिता उस समय अच्छा कमा रहे थे |  उनका इलेक्ट्रॉनिक का बिजनेस था | पिता ने दिलीप को अपने वर्कशॉप में एक छोटी सी जगह दी | साथ ही अपने तीन कर्मचारी एक महीने के लिए दिए | पिता ने कहा कि एक महीने में अपने आप को साबित करके दिखाओ नहीं तो ये सारी सुविधाएं वापस ले लूंगा | 

दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) ने एक महीने में वो कर दिखाया जो उनके पिता तो क्या किसी ने नहीं सोचा था | दिलीप ने प्रीमियर पद्मिनी कार का हॉर्न बदला | उस समय ये कार बहुत चलती थी | ये हॉर्न इतना मशहूर हुआ कि दिलीप ने एक महीने में इतनी कमाई कर ली, जितना उनके पिता साल भर में कमाते थे | साल 2002 में दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) को काइनेटिक इंजीनियरिंग लिमिटेड ने एक स्कूटर डिजाइन करने के लिए बुलाया | फिर साल 2006 में उन्होंने ईटीए स्टार ग्रुप के साथ मिलकर नई कंपनी बनाई डीसीस्टार | ये कंपनी दुबई में सेट की गई थी | साल 2009 में कोका-कोला कंपनी के लिए एक कॉन्सेप्ट कार बनाई ताकि कंपनी भारत में एक ड्रिंक प्रमोट कर सके | साल 2011 में दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) ने महिंद्रा के लिए REVA इलेक्ट्रिक कार डिजाइन की | साल 2012 में एयर वर्क्स इंडिया ने छाबड़िया के साथ समझौता कर फ्लाइट का इंटीरियर डिजाइन करवाया | साल 2013 से 2014 तक दिलीप ने दो लग्जरी बस सर्विसेज की बसें डिजाइन की | इसके बाद उन्होंने भारत को उसकी पहली स्पोर्ट्स कार डिजाइन करके दी | 

दिलीप छाबड़िया (Dileep Chhabria) ने साल 2015 में भारत की पहली स्पोर्ट्स कार डीसी अवंती (DC Avanti) बनाकर दी | इसके अलावा साल 2003 में जेम्स बॉन्ड की फिल्म में एस्टन मार्टिन डीबी-8 को डिजाइन करके दिया | इसके अलावा इलेक्ट्रिक एंबेस्डर, टार्जन फिल्म की ड्राइवरलेस कार, माधुरी दीक्षित के लिए इनोवा क्रिस्टा, टोयोटा फॉर्च्यूनर, रेनो डस्टर आदि कारों का डिजाइन किया है | 


    2
    0

    Comments

    • Good

      Commented by :Aslam
      30-12-2020 15:35:38

    • Amazing work, DC

      Commented by :Rajeev Kumar
      30-12-2020 13:09:47

    • Ok

      Commented by :Sirajuddin Ansari
      30-12-2020 11:28:14

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    advt_govt

    Trends

    Special Story