राज ठाकरे के बेटे अमित की राजनीति में एंट्री, MNS में हुए शामिल

Medhaj News 23 Jan 20 , 17:45:32 India Viewed : 1180 Times
sevsena.JPG

बाला साहेब ठाकरे की जयंती पर राज ठाकरे ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का नया झंडा जारी किया है | झंडे का रंग बदलकर भगवा करने के अलावा राज ठाकरे ने एक और बड़ा बदलाव किया है | राज ने अपने बेटे अमित ठाकरे को राजनीति में उतार दिया है | अमित ठाकरे अब पिता की पार्टी MNS में शामिल हो गए हैं | अमित ठाकरे को राजनीति में लाने का फैसला राज ठाकरे ने ऐसे वक्त में किया है जब उनके चचेरे भाई उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हैं और भतीजे आदित्य ठाकरे कैबिनेट मंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं | यानी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य दोनों ही फिलहाल सूबे की सत्ता संभाल रहे हैं | अक्टूबर 2019 में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भी उनकी पार्टी एमएनएस का कद काफी सिकुड़ा नजर आया और वह महज एक सीट जीत पाई | हालांकि, एक दौर वो था जब राज ठाकरे बाला साहेब के असली राजनीतिक वारिस के तौर पर देखे जाते थे |





बाला साहेब का निधन 2012 में हुआ | अपने जीवनकाल में बाला साहेब ने कभी चुनाव नहीं लड़ा, लेकिन शिवसेना के अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने महाराष्ट्र की सत्ता में हमेशा बड़ा दखल रखा | इसके अलावा बाल ठाकरे ने अपने आक्रामक रवैये से एक अलग राजनीतिज्ञ की छवि भी बनाई, जिसकी आलोचना भी अक्सर होती रही | भतीजे राज ठाकरे हमेशा बाल ठाकरे के नक्शेकदम पर चलते रहे और मराठा अस्मिता को आगे रखकर उत्तर भारतीयों को निशाना बनाते रहे | इस सबके बावजूद बाला साहेब का निधन होने पर शिवसेना की कमान के साथ ही बाला साहेब के हिंदुत्व की विरासत उद्धव ठाकरे के हाथों में चली गई और राज ठाकरे महाराष्ट्र की सियासत में कमजोर होते गए |





हालांकि, राज ठाकरे की एमएनएस बाल ठाकरे के निधन से पहले ही वजूद में आ गई थी, लेकिन उसका सियासी कद कभी उभार नहीं ले पाया | राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे के बीच लंबे समय से सियासी खींचतान चली आ रही है और इस लड़ाई में हमेशा उद्धव का पलड़ा ही भारी रहा है | अब दोनों भाइयों की अगली पीढ़ी राजनीति में उतर आई है | उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे परिवार की परंपरा के विपरीत जाकर चुनाव भी लड़ चुके हैं और पिता की कैबिनेट में मंत्रालय भी संभाल रहे हैं | जबकि राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे ने अभी राजनीति में एंट्री मारी है | ऐसे में अब यह देखना भी दिलचस्प होगा कि उद्धव-राज की रानजीतिक लड़ाई के बीच ठाकरे परिवार के दो वारिसों आदित्य और अमित ठाकरे के बीच मुकाबला कैसा रहेगा |


    0
    0

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story