दुनिया

इजराइल ने किया बड़ा दावा

अभी कल ही खबर चली थी कि बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको ने कहा था कि जो देश पुतिन और उनका साथ देंगे उन्हें परमाणु हथियार दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि साथी देश यूनाइटेड स्टेट ऑफ बेलारूस और रूस में शामिल हो जाएं तो उन्हें परमाणु हथियार मिल जाएंगे। इस बार इजराइल से बड़ी खबर आ रही है कि वहां के खुफिया एजेंसी मोसाद के पूर्व चीफ योसी कोहन ने दावा किया है कि इजराइल और सऊदी अरब के बीच रिश्ते जल्द सामान्य हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि मेरे हिसाब से दोनों मुल्कों के बीच नॉर्मल रिलेशन शुरू होने में अब कोई दिक्कत नहीं है। ये बिल्कुल मुमकिन है कि इजराइल और सऊदी एक प्लेटफॉर्म पर नजर आएं।

जानकारी के लिए आपको बता दे कि योसी कोहेन 2016 से 2021 तक मोसाद के चीफ रहे। उनके दौर में इजराइल ने पांच गल्फ कंट्रीज के साथ डिप्लोमैटिक रिलेशन शुरू किए। ये वही दौर था जब डोनाल्ड ट्रम्प की कोशिशों से अमेरिका ने इजराइल और गल्फ कंट्रीज के साथ अब्राहम अकॉर्ड नाम से एक समझौता कराया। कोहेन ने आगे कहा- दोनों देशों के पास ऐसे नेता हैं जो बिना डरे और परेशान हुए इस तरह के फैसले ले सकते हैं। उन्हें अच्छी तरह पता है कि इन मुश्किल कामों को किस तरह किया जाता है।

जैसा कि आप सब को नही ज्ञात होगा कि आज UAE और बहरीन भी इजराइल के साथ इंटरनेशनल फोरम पर नजर आते हैं। इन देशों के साथ इजराइल की तमाम कंपनियां अरबों डॉलर का ट्रेड कर रही हैं और इससे दोनों देशों को फायदा हो रहा है। कोहेन के दौर में ही इजराइल ने ईरान पर जबरदस्त दबाव बनाया था। उसके कई टॉप साइंटिस्ट्स और आर्मी जनरल को मार गिराया गया था। आरोप इजराइल की खुफिया एजेंसी मोसाद पर लगा था।

ये जानकारी इसलिए भी बहुत जरुरी है कि UAE, सूडान, मोरक्को और बहरीन इजराइल को मान्यता दे चुके हैं। कुवैत और जॉर्डन ये पहले ही कर चुके थे। पिछले साल तब के इजराइली प्रधानमंत्री नफ्टाली बेनेट ने UAE का दौरा किया था। अबुधाबी जाने वाले वो पहले इजराइली प्रधानमंत्री थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button