दुनिया

इटली भी अलग होगा चीन के BRI प्रोजेक्ट से, ऑस्ट्रेलिया, मालदीव तथा श्रीलंका भी हो चुके हैं परेशान

चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) प्रोजेक्ट से जुड़ने के बाद यूरोपीय देश इटली परेशान हो गया है, और वह इससे निकलने की तयारी में है, इस बात की जानकारी इटली के रक्षा मंत्री गोईदो क्रोसेटो ने एक इंटरव्यू के माध्यम से दी उन्होंने कहा BRI प्रोजेक्ट से जुड़ने का फैसला जल्दबाजी में लिया गया फैसला है, उन्होंने इससे जुड़ने को एक गलती माना, उन्होंने कहा कि हम दिसंबर तक इससे बहार आ जायेंगे।

यह जल्दबाजी में लिए गया था यह फैसला

इटली के रक्षा मंत्री गोईदो क्रोसेटो ने कहा कि इस प्रोजेक्ट से चीन को फायदा होता है लेकिन हमारे  देश को निर्यात से फायदा नहीं हुआ उन्होंने कहा कि यह एक यह जल्दबाजी में लिए गया फैसला था, उन्होंने कहा कि अब जरुरी बात यह है कि इटली और चीन के संबंधों को बिना नुकसान पहुंचाए इस प्रोजेक्ट से बाहर कैसे निकला जाये।

ऑस्ट्रेलिया, मालदीव और श्रीलंका हो चुके हैं परेशान

इसके पहले ऑस्ट्रेलिया, मालदीव और श्रीलंका जैसे देश भी इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत शामिल थे, लेकिन उन्होंने इससे बाहर निकलने का फैसला किया है। इसमें कई कारण शामिल हैं, जैसे संदिग्धता और राजनीतिक समस्याएं आदि, चीन के जाल से श्रीलंका तथा मालदीव जैसे देश बहुत बुरी तरह से कर्ज में डूब गए थे।

क्या है बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) प्रोजेक्ट

बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) प्रोजेक्ट चीन का एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रोजेक्ट है। यह एक व्यापक भूमिगत और समुद्री संयोजन है, जिसका उद्देश्य चीन को अपने वाणिज्यिक और राजनीतिक हस्तक्षेप को बढ़ाने, दूसरे देशों के साथ बृहदायामी बांधने और भू-संपदा को बेहतर विकसित करने में मदद करना है।

इस प्रोजेक्ट का विचार 2013 में चीन के राष्ट्रीय नेता और अध्यक्ष शी जिनपिंग द्वारा प्रस्तुत किया गया था। इसका नाम ‘बेल्ट’ इसलिए रखा गया है क्योंकि यह दुनिया के भिन्न-भिन्न भूभागों को एकत्रित करने वाले भू-भागों की तरह देखा जा सकता है, जो व्यापार, निवेश और अन्य आर्थिक संबंधों को मजबूत करता है। ‘रोड’ शब्द समुद्री सम्बन्धों को संकेत करता है, जो इस प्रोजेक्ट के माध्यम से विभिन्न राष्ट्रों को जोड़ते हैं।

 

Read more…पाकिस्तान विधानसभा में आत्मघाती विस्फोट में 40 की मौत, खैबर पख्तूनख्वा में विधानसभा पर हमला

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button