मनोरंजनहास्य

जहां न पहुंचे रवि ,वहां पहुंचे कवि

jahan-na-pahuche-ravi-vahan-pahunche-kavi

शिक्षक – जहां न पहुंचे रवि , वहां पहुंचे कवि ,
उक्ति की पुष्टि के लिए उदाहरण दों ।
छात्र – कवि सम्मेलन का रात को होना ।
———————————————————————
रवि- मेरे पिता एक हाथ से कारों को रोक लेते है |
श्याम – तब तो तुम्हारे पिता जी पहलवान होंगे |
रवि- जी नहीं , वह ट्रैफिक पुलिस में सिपाही हैं.
———————————————————————
मोटू ( अपने मित्र छोटू से ) – तुम्हारी दादी हर
समय बैठी रामायण पढती रहती हैं ?
छोटू – हां , वह अपनी अन्तिम परीक्षा
की तैयारी कर रही हैं |
———————————————————————
बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड से- आओ तुम्हें चांद पर ले जाऊं।
गर्लफ्रेंड- अरे नहीं यार…..
ब्वॉयफ्रेंड- लेकिन क्यों?
लड़की- क्योंकि वहां वॉट्सऐप नहीं चलता है।
———————————————————————
पत्नी – मैं बचूंगी नहीं, मर जाऊंगी…
पति – मैं भी मर जाऊंगा! पत्नी- मैं तो बीमार हूं
इसलिए मर जाऊंगी, तुम क्यों मर जाओगे?
पति – मैं इतनी खुशी बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगा…
———————————————————————
डॉक्टर – तबियत कैसी है..?
मरीज – पहले से ज्यादा खराब है…
डॉक्टर – दवाई खा ली थी.?
मरीज – खाली नहीं थी भरी हुई थी…
डॉक्टर – मेरा मतलब है दवाई ले ली थी.?
मरीज – जी आप ही से तो ली थी…
डाक्टर – बेवकूफ !! दवाई पी ली थी ?
मरीज – नहीं जी, दवाई नीली थी…
डॉक्टर – अबे गधे !! दवाई को पी लिया था ?
मरीज – नहीं जी,, पीलिया तो मुझे था…
डॉक्टर – उल्लू के पट्ठे !! दवाई को खोल के मुंह में रख लिया था?
मरीज – नहीं आप ही ने तो कहा था कि फ्रिज में रखना…..
डॉक्टर – अबे क्या मार खायेगा..?
मरीज – नहीं दवाई खाऊंगा…
डॉक्टर – निकल भाई, तू पागल कर देगा…
मरीज – जा रहा हूं, फिर कब आऊं..?
डॉक्टर – मरने के बाद…
मरीज – मरने के कितने दिन बाद?
डॉक्टर बेहोश।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button