मनोरंजनहास्य

ज्वाइंट अकाउंट

कंजूसचंद्र अपनी पत्नी के साथ कहीं घूमने गया।
पत्नी- सुनो जी, मुझे प्यास लगी है। पानी की एक बोतल ले लीजिए।
कंजूसचंद्र- दही कचौरी खाएगी क्या…?
पत्नी- एजी, ऐसे मत बोलिए, मेरे तो मुंह में पानी आ गया।
कंजूसचंद्र- बस, तो उसी को पी ले। बोतल में क्या डूब के मरना है
*****************************************************************
राजू एक बैंक में गया और बोला- मुझे एक ज्वाइंट अकाउंट खुलवाना है!
बैंक मैनेजर- किसके साथ ?
राजू- जिसके अकाउंट में खूब सारा पैसा हो।
बैंक मैनेजर (गार्ड से)- धक्के मारकर बाहर निकालो इसको।
****************************************************************
शेखू – शादी के समय सात फेरे लेते वक्त
तुमने वचन दिया था और स्वीकार किया था कि
मेरी इज्जत करोगी, मेरी सब बात मानोगी।
शेखू की पत्नी- तो क्या इतने लोगों के सामने तुमसे बहस करती।
बीवी की बात सुनकर पतिदेव अभी तक सन्नाटे में है।
****************************************************************
विज्ञान के एक गुरूजी ने सांइस लैब में एक प्रक्टिकल करते हुए
अपनी जेब से 5 का सिक्का निकाला और उसे acid में डाला।
और फिर वहाँ खड़े बच्चों से पूछा,
बताओ बच्चों ये सिक्का अब घुलेगा या नही..
रामू बोला :- सर जी, इसमें नहीं घुलेगा…
गुरूजी :- शाबाश, रामू लेकिन तुझे कैसे पता यह नही घुलेगा..
रामू :- सर जी, अगर सच में acid में सिक्का डालने से घुलता,
तो आप सिक्का हम लड़को से मांगते ना
कि आप खुद अपनी जेब से निकाल के डालते।
**************************************************************
शादी के बाद पहली बार संता ससुराल गया
दामाद को गुस्से में देखकर सास – क्या हुआ दामाद जी
संता– मेरा खून चूस लिया आपकी बेटी ने
सास – ऐसा क्या किया मेरी बेटी ने
संता – इसमें हजारों कमियां हैं
सास –मुझे पता है बेटा इसी वजह से तो इसे अच्छा लड़का नहीं मिल पाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button