मनोरंजनयात्रा

राज्य बिहार में स्थित एक महत्वपूर्ण झील

कांवर झील, जिसे विशेष रूप से कांवर सागर भी कहा जाता है, भारतीय राज्य बिहार में स्थित एक महत्वपूर्ण सागर है। यह झील बिहार के जिला आरा में स्थित है और यह गंगा नदी के उपनदी भाग, सोन नदी के तट पर स्थित है। यह झील बिहार के पश्चिमी भाग में स्थित है और नेपाल की सीमा के पास फैली हुई है। यह झील आस-पास के क्षेत्रों के किसानों के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यहाँ पर यह कृषि के लिए पानी की आपूर्ति करता है। कांवर झील एक महत्वपूर्ण पक्षी अभयारण्य भी है और यहाँ पर बहुत सारी प्रजातियों के पक्षी पाए जाते हैं, जैसे कि सारस, सारा, कृष्ण सारस, बकुल, और अन्य।

कांवर झील को बिहारी संगीतिक और सांस्कृतिक धरोहर का हिस्सा माना जाता है, और यह एक प्रमुख पूजा स्थल भी है, जहां हर साल सावन मास में बड़े धूमधाम से कांवरियों का महोत्सव मनाया जाता है। यहां पर कई धार्मिक और पारंपरिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं और लाखों श्रद्धालु यहां आकर कांवरियों की पूजा करते हैं और उनके अभिषेक के लिए जल संग्रहण करते हैं। कांवर झील का आकार वर्षों से बदलता रहा है ।

कांवर झील एक प्रमुख अक्षय तृतीया पर्व के उत्सव के दौरान भी महत्वपूर्ण रोल निभाती है, जब लोग गंगा से जल लाकर यहां अभिषेक के लिए उपयोग करते हैं।

कांवर झील का पर्यटन भी एक महत्वपूर्ण आर्थिक गतिविधि है, और यहां पर कई लोग अपनी सुविधानुसार यात्रा करते हैं ताकि वे इस प्राचीन स्थल की सुंदरता और धार्मिक महत्व का आनंद उठा सकें।

read more… महराजगंज जनपद के इटहिया शिव मंदिर में प्राचीन और अनोखा पंचमुखी शिवलिंग

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button