जानें कैसे पता लगाएं कि आपका बच्चा तेज दिमाग वाला है या नहीं

आज कल के बच्चे काफी तेज हो गए हैं. उनके सामने कुछ बोलना बड़ो के लिए भी मुश्किल हो गया है. वे छोटी-छोटी चीजों को तुरंत समझ जाते हैं. लेकिन ये चीजें एक बच्चे के शार्प माइंड को दर्शाती हैं ।

आज की इस भाग-दौड़ और कम्पीटीशन से भरी दुनिया में बच्चों की देखभाल करना काफी मुश्किल होता जा रहा है. हर माता-पिता चाहते है कि उनके बच्चे अपने करियर में आगे बढ़े, लेकिन उनके मन में एक उलझन यह रहती है कि वे अपने बच्चे से कोई उम्मीद कर सकते हैं या नहीं. आसान शब्दों में कहें, तो मां-बाप को चिंता होती है कि उनका बच्चा कितना तेज निकलेगा, पढ़-लिख कर कहां तक पहुंचेगा आदि. ऐसे में आप नीचे दी गई कुछ टिप्स के जरिए इस बात का पता लगा सकते हैं, कि आपके बच्चे का दिमाग कितना तेज है, जिससे आप अपने बच्चे से भविष्य में कुछ उम्मीद कर पाएंगे।

1. कुछ नया जानने की इच्छा होगा: आपने देखा होगा कि बहुत से बच्चे ऐसे होते हैं, जिन्होंने हमेशा कुछ ना कुछ सीखने की इच्छा होती है. चाहे फिर हो डांस हो, गाना गाना हो, कोई खेल सीखना हो आदि. अगर आपका बच्चा ऐसे लक्ष्ण दिखाता है, तो समझ जाएं कि आपके बच्चा क्रिएटिव है।

2. हाजिरजवाबी: आज कल के बच्चे काफी तेज हो गए हैं. उनके सामने कुछ बोलना बड़ो के लिए भी मुश्किल हो गया है. वे छोटी-छोटी चीजों को तुरंत समझ जाते हैं. ये चीजें बच्चे के शार्प माइंड को दर्शाती हैं।

3. पढ़ाई में इंटरेस्ट: जो छात्र बचपन से ही पढ़ाई-लिखाई में इंटरेस्ट लेते हैं, उनका माइंड काफी तेज होता है. यही कारण है कि वे नई-नई चींजे सीखने की कोशिश भी करते रहते हैं. ऐसे बच्चे अपनी क्लास में भी टीचर के सामने जवाब देने में नहीं हिचकिचाते हैं।

4. क्रिएटिविटी होना: जिन छात्रों को आर्ट एंड क्राफ्ट में इंटरस्ट होता है, उन छात्रों के साथ अक्सर देखा गया है कि वे अपने आप में ही बिजी रहते हैं और इन्ही कारणो से बच्चों का दिमाग भी तेज होता रहता है।

5. एक्टिव होना: कई बच्चे इतने एक्टिव होते हैं कि उनमें एनर्जी होने के साथ किसी भी काम को करने की काफी फुर्ती होती है. ऐसे बच्चे सुस्त न होकर काफी एक्टिव होते है और दिमाग से काफी तेज-तर्रार भी होते हैं।

Exit mobile version