दुनिया

नाइजर के सैनिको ने राष्ट्रीय टीवी पर कीया तख्तापलट : राष्ट्रपति को हटाने की घोषणा

पश्चिमी अफ्रीकी देश नाइजर में गुरुवार को सेना ने तख्तापलट कर दिया। कुछ हथियार बंद सैनिक राष्ट्रपति भवन में घुसे और उन्होंने उस पर कब्जा कर लिया। इसी के साथ राष्ट्रपति मोहम्मद बज्म को सत्ता से हटाकर कैद कर लिया।

सेना ने तख्तापलट का ऐलान नेशनल टीवी पर आकर किया। कर्नल अमादौ अब्द्रमाने अन्य सैन्य अधिकारियों संग टीवी पर आए और राष्ट्रपति को सत्ता से बेदखल करने की बात कही। कर्नल ने आगे कहा, बिगड़ती सुरक्षा स्थिति और खराब शासन के कारण हम राष्ट्रपति शासन को समाप्त कर रहे हैं। अब्द्रामने ने कहा कि नाइजर के बॉर्डर सील हैं। पूरे देश में कर्फ्यू घोषित है और सभी सरकारी दफ्तरों को सस्पेंड कर दिया गया है।

इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने नाइजर के राष्ट्रपति को हरसभंव मदद देने की बात कही है। वहीं UN महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने भी कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति से बात की है और उन्हें संयुक्त राष्ट्र का पूरा समर्थन देने की पेशकश की है।

हालांकि, नाइजर की सेना ने किसी भी विदेशी हस्तक्षेप के खिलाफ चेतावनी दी और कहा कि वे अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

पिछले 3 सालों में पश्चिमी और मध्य अफ्रीकी देश में हुए तख्तापलट…

बुर्किना फासो
बुर्किना फासो की सेना ने जनवरी 2022 में राष्ट्रपति रोच काबोरे को इस्लामी आतंकवादियों द्वारा हिंसा को रोकने में विफल रहने का दोषी ठहराते हुए पद से हटा दिया था।

तख्तापलट के नेता लेफ्टिनेंट कर्नल पॉल-हेनरी दामिबा ने सुरक्षा बहाल करने का वादा किया, लेकिन हमले बदतर हो गए, जिससे सशस्त्र बलों का मनोबल गिर गया, जिसके परिणामस्वरूप आठ महीने बाद दूसरा तख्तापलट हुआ, जब वर्तमान जुंटा नेता कैप्टन इब्राहिम ट्रोरे ने सितंबर में विद्रोह के बाद सत्ता पर कब्जा कर लिया।

माली
असिमी गोइता के नेतृत्व में मालियन कर्नलों के एक समूह ने अगस्त 2020 में राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर कीता को पद से हटा दिया। बिगड़ती सुरक्षा, विधायी चुनाव लड़ने और भ्रष्टाचार के आरोपों पर सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद तख्तापलट हुआ। खैर देश में संवैधानिक शासन की वापसी के लिए फरवरी 2024 में राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है।

चाड
अप्रैल 2021 में राष्ट्रपति इदरीस डेबी की विद्रोहियों ने हत्या कर दी थी। जिसके बाद चाड की सेना ने सत्ता संभाली। चाडियन कानून के तहत, संसद के अध्यक्ष को राष्ट्रपति बनना चाहिए था, लेकिन एक सैन्य परिषद ने हस्तक्षेप किया और स्थिरता सुनिश्चित करने के नाम पर संसद को भंग कर दिया। डेबी के बेटे, जनरल महामत इदरीस डेबी को अंतरिम राष्ट्रपति नामित किया गया और चुनावों में 18 महीने के परिवर्तन की देखरेख का काम सौंपा गया।

गिनी
विशेष बल के कमांडर कर्नल मामाडी डौंबौया ने सितंबर 2021 में राष्ट्रपति अल्फा कोंडे को पद से हटा दिया। एक साल पहले, कोंडे ने तीसरी बार राष्ट्रपति बनने के लिए संविधान में कुछ बदलाव किए थे। बाद में डौंबौया अंतरिम राष्ट्रपति बने और उन्होंने तीन साल के भीतर लोकतांत्रिक चुनावों में बदलाव का वादा किया।

सूडान

नॉर्थ अफ्रीकी देश सूडान में तख्तापलट के लिए मिलिट्री और बागी पैरामिलिट्री रेपिड सपोर्ट फोर्स (RSF) के बीच लड़ाई जारी है। न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, अब तक 97 लोगों की मौत हो चुकी है। 1,126 लोगों के घायल होने की खबर है। BBC के मुताबिक, डॉक्टरों का कहना है कि राजधानी खार्तूम के अस्पतालों में हालात बेहद मुश्किल हो गए हैं। लड़ाई के चलते स्वास्थ्यकर्मी घायलों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं।

read more… जानिये इमरान खान को किस मामले में लगा झटका

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button