आम आदमी पार्टी की अयोध्या में तिरंगा यात्रा: मनीष सिसोदिया ने की अगुवाई

आम आदमी पार्टी की अयोध्या में तिरंगा यात्रा: मनीष सिसोदिया ने की अगुवाई

अयोध्या | उत्तर प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियों के बीच रामलला की नगरी अयोध्या अब सभी राजनीतिक दलों के लिये एक मंच बनती जा रही है। कभी अयोध्या में राम मंदिर की जगह विश्वविद्यालय की बात करने वाले दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया अब राम की शरण में लौट आये हैं।  

अगले साल की शुरआत में होने वाले यूपी चुनाव से पहले आदमी पार्टी भी राम लला के दरबार में नतमस्तक हो गई है।  मंगलवार को आम आदमी पार्टी अयोध्या में तिरंगा यात्रा निकाल रही है। इस यात्रा के सीधे निशाने पर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा है।  इस मौके पर आप के यूपी प्रभारी संजय सिंह ने कहा है कि यह यात्रा आप का सच्चा राष्ट्रवाद दिखाकर भाजपा के नकली राष्ट्रवाद को बेनकाब करने का काम करेगी।

यात्रा से पहले मनीष सिसोदिया ने रामलल्ला और हनुमानगढ़ी के दर्शन कर आशीर्वाद लिया।  अयोध्या में आम आदमी पार्टी की यह चौथी 'तिरंगा यात्रा' होगी। पार्टी ने 2022 में आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सभी सीटों पर अपने दम पर लड़ने की अपनी मंशा की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि उनके अभियान का अयोध्या चरण उसकी विभाजनकारी राजनीति पर भाजपा के लिए एक चुनौती होगी क्योंकि तिरंगा साम्प्रदायिकता के सामने एकता का प्रतीक है।

पार्टी के इस महीने के अंत तक लगभग 100 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी करने की भी उम्मीद है, जो पहले ही कई नामों को अंतिम रूप दे चुकी है।
सिसोदिया ने कहा कि तिरंगा यात्रा का उद्देश्य उत्तर प्रदेश में विकास और ईमानदारी की नई राजनीति लाना होगा। आप के दोनों नेता 18वीं सदी के नवाब शुजा उद दौला के मकबरे से तिरंगा यात्रा का नेतृत्व करेंगे और यह शहर के गांधी पार्क में जाकर खत्म होगी।

आप पहले ही लखनऊ, आगरा और नोएडा में तिरंगा यात्रा कर चुकी है और चुनाव से पहले अन्य शहरों में और यात्राएं निकालने की योजना बना रही है। इस बीच, भाजपा ने अयोध्या के लिए आप नेताओं की आत्मीयता पर कटाक्ष किया। उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने कहा कि "ऐसे नेता हैं जो पहले राम मंदिर के खिलाफ बोलते थे और अब वे भगवान की शरण में जा रहे हैं।"

0Comments