मेरे लिए एक्टिंग पैसा कमाने या फेमस होने का जरिया नहीं : पंकज त्रिपाठी

मेरे लिए एक्टिंग पैसा कमाने या फेमस होने का जरिया नहीं : पंकज त्रिपाठी

बॉलीवुड के जाने—माने और सबके चहेते अभिनेता पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) का कहना है कि अभिनय खुद को एक नए रूप में ढलने का एक साधन है, इससे वह अपने किरदार को अधिक प्रामाणिकता के साथ निभाने के काबिल बनते हैं।


पंकज ने साल 2004 में फिल्म 'रन' के साथ अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी, हालांकि इसमें उनका किरदार बहुत छोटा था। बाद में उन्हें अनुराग कश्यप की फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' में काम करने का मौका मिला, जिससे वह सुर्खियों में आए।


अब तक वह 'गुंजन सक्सेना', 'गुड़गांव', 'बरेली की बर्फी', 'मिजार्पुर', 'स्त्री' और 'न्यूटन' जैसी फिल्मों में अलग—अलग किरदारों में नजर आ चुके हैं। बीते सालों में न केवल उन्होंने अपने अभिनय प्रतिभा का लोहा मनवाया है, बल्कि लाखों लोगों के दिलों में भी अपनी जगह बनाई है। 


वह कहते हैं, "मेरे लिए अभिनय न केवल प्रसिद्धि और पैसा कमाने का माध्यम है, बल्कि अभिनय के माध्यम से मैं खुद को ढूंढ़ता हूं, अपने अंदर छिपे हुए चीजों का पता लगाता हूं।"


पंकज ने कहा कि अभिनय उनकी ऊर्जा और इंद्रियों को पुनर्जीवित करता है।


उन्होंने कहा, "अभिनय मेरी ऊर्जा और इंद्रियों को पुनर्जीवित करता है, जिससे अंतत: अपनी कला में निपुण होने का मुझे अवसर मिलता है।"

रोचक किरदार न करूं तो बोर हो जाऊंगा- पंकज त्रिपाठी

0Comments