खतरे में अमेज़न के जंगल

खतरे में अमेज़न के जंगल

हाल ही में हुए एक अध्ययन के अनुसार अमेजन के जंगलों में कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करने के बजाय इसका उत्सर्जन करना शुरू कर दिया है। वर्ष 1960 के बाद बढ़ते पेड़ों और पौधों ने सभी जीवाश्म ईंधन उत्सर्जन का लगभग एक चौथाई हिस्सा अवशोषित कर लिया है, जिसमें अमेजन सबसे बड़े उष्णकटिबंधीय वन के रूप में एक प्रमुख भूमिका निभा रहा है। 

पूर्वी और दक्षिण पूर्वी ब्राजील में अत्यधिक वनों की कटाई के कारण इसमें जंगल को कार्बन डाइऑक्साइड के स्रोत में बदल दिया है जो पृथ्वी को गर्म करने की क्षमता रखता है। यह बहुत ही गलत बात है हमें पेड़ों की कटाई नहीं करनी चाहिए। पेड़ हमें ऑक्सीजन प्रदान करते हैं पेड़ों को काटकर हम ऑक्सीजन की बर्बादी कर रहे हैं। बिना आग के भी अमेजन के एक हिस्से में विशेष रूप से कार्बन उत्सर्जन की चिंताजनक स्थिति देखी गई है जो संभवतः प्रत्येक वर्ष वनों की कटाई और अगले वर्ष के लिए फसल प्राप्ति हेतु जंगलों को साफ करने के उद्देश्य से लगाई जाने वाली आग का परिणाम है। 


अमेजॉन को हम धरती का फेफड़ा कहते हैं और अगर धरती का फेफड़ा ही खराब होगा तो हम शुद्ध वायु की कल्पना भी नहीं कर सकते इसीलिए यह एक चिंता का विषय है।  

---- सुदर्शन सोराड़ी, ( नैनीताल)

1Comments

  • milfs dating.com [url="http://datingsitesfirst.com/?"]dating personal ads [/url]