होम > विशेष खबर

7 अगस्त :आज के दिन का इतिहास क्या क्या है खास

7 अगस्त :आज के दिन का इतिहास क्या क्या है खास

आज का दिन राष्ट्रीय हथकरघा दिवस (National Handloom Day) के नाम से जाना जाता है। आज ही के दिन प्रसिद्ध भारतीय कृषि वैज्ञानिक एम. एस. स्वामीनाथन का जन्म 1925 में हुआ था। भारत के प्रसिद्ध विद्वान वासुदेव शरण अग्रवाल का जन्म भी आज ही के दिन 1904 में हुआ था। 

आज के दिन की कुछ खास और महत्वपूर्ण बाते 

1909 – एलिस ह्यूलर रैमसे अपने तीन दोस्त के साथ ट्रांसकांटिनेंटल ऑटो ट्रिप को पूरा करने वाली पहली महिला बन गयी न्यूयॉर्क से सैन फ्रांसिस्को, कैलिफ़ोर्निया तक यात्रा करने के लिए 59 दिन लग गए थे। 
1938 – माउथौसेन एकाग्रता शिविर की इमारत का निर्माण शुरू हुआ था। 
1942 – द्वितीय विश्व युद्ध: गुआडालकानल की लड़ाई संयुक्त राज्य अमेरिका के मरीन ने सोलोमन द्वीपसमूह में गुआडालकानल और तुलगी पर लैंडिंग के साथ युद्ध के पहले अमेरिकी हमले की शुरुआत की थी। 
1946 – सोवियत संघ की सरकार ने अपने तुर्की समकक्षों को एक नोट प्रस्तुत किया, जिसने तुर्की स्ट्रेट्स पर बाद की संप्रभुता को खारिज कर दिया था। 
1959 – एक्सप्लोरर प्रोग्राम: एक्सप्लोरर 6 फ्लोरिडा के केप कैनावेरल में अटलांटिक मिसाइल रेंज से लॉन्च हुआ था। 
1960 – आइवरी कोस्ट फ्रांस से स्वतंत्र हो गया था। 
1962 – कनाडा के पैदा हुए अमेरिकी फार्माकोलॉजिस्ट फ्रांसिस ओल्डहम केल्सी ने थैलिडोमाइड को अधिकृत करने से इंकार करने के लिए प्रतिष्ठित संघीय नागरिक सेवा के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। 
1970 – कैलिफ़ोर्निया के न्यायाधीश हैरोल्ड हैली को अपने कोर्टरूम में बंधक बना लिया गया था। 
1978 – अमेरिकी राष्ट्रपति जिमी कार्टर ने लापरवाही से निपटने वाले जहरीले अपशिष्ट के कारण एक संघीय आपातकाल की घोषणा की थी। 
1981 – वाशिंगटन स्टार ने 128 साल के प्रकाशन के बाद सभी परिचालन बंद कर दिए था। 
1985 – ताकाओ दोई, मोमारू मोहरी और चियाकी मुकाई को जापान के पहले अंतरिक्ष यात्री होने के लिए चुना गया था। 
1987 – लिन कॉक्स संयुक्त राज्य अमेरिका से सोवियत संघ में तैरने वाला पहला व्यक्ति बन गया था। 
1998 – केन एस सलाम, तंजानिया और नैरोबी में संयुक्त राज्य दूतावासों में बम विस्फोट हुआ केन्या में लगभग 212 लोग मारे गए थे। 
2008 – दक्षिण ओस्सेटिया के क्षेत्र में रूसो-जॉर्जियाई युद्ध की शुरुआत हुई थी। 
2010 – भारत के वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच हुए सबसे बड़े ऋण समझौते के अनुसार भारत बांग्लादेश को एक अरब डॉलर ऋण देगा।