कोविड की तीसरी लहर होगी कम खतरनाक, बीएचयू वैज्ञानिक ने दी जानकारी

कोविड की तीसरी लहर होगी कम खतरनाक, बीएचयू वैज्ञानिक ने दी जानकारी

वाराणसी| बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में जूलॉजी विभाग के वरिष्ठ जेनेटिसिस्ट (आनुवंशिकीविद्) प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर बड़ी जानकारी साझा की है। 


उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर कम गंभीर होगी। ये पहली दो लहरों की तरह अधिक घातक नहीं होगी। इस लहर का असर खासतौर से उन लोगों पर कम होगा जिन्हें टीका लगाया गया है और जो इस वायरस से ठीक हो चुके हैं।


उन्होंने कहा कि जिन लोगों को कोविड-19 का टीका लगाया गया है और वे ठीक हो गए हैं, वे तीसरी लहर के दौरान संरक्षित समूह के अंतर्गत आएंगे।


उन्होंने कहा कि लहर की संभावना कम से कम तीन महीने बाद आएगी, लेकिन चल रहे कोरोनावायरस टीकाकरण से लोगों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और उन्हें लहर का विरोध करने में मदद मिलेगी।


उन्होंने आगे कहा, "जैसा कि हर तीन महीने में एंटीबॉडी का स्तर गिरता है, तीसरी लहर की संभावना होती है। इस मायने में, अगर अगले तीन महीनों में एंटीबॉडी का स्तर गिरता है, तो तीसरी लहर आ सकती है। लेकिन मौजूदा टीकाकरण अभियान से वायरस के खिलाफ लड़ाई में मदद मिलेगी। अगर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता 70 प्रतिशत से ज्यादा है तो उस समूह में कोविड का प्रभाव कम होगा और धीरे-धीरे इसकी आवृत्ति कम होने लगेगी।"


प्रो चौबे ने आगे कहा कि जहां वायरस को रोका नहीं जा सकता, वहीं मृत्यु दर को कम किया जा सकता है।


उन्होंने कहा, "समय-समय पर, कोरोना अपना सिर उठाएगा लेकिन अंतत: कम हो जाएगा। एक बार एंटीबॉडी का स्तर कम हो जाने पर, कोविड को पकड़ने की संभावना बढ़ जाएगी। फिर भी, संरक्षित समूह में मृत्यु दर बहुत कम है।"


ऐसे में अगर दो से चार लाख लोगों में से एक से दो लोगों की मौत भी हो जाए तो भी यह एक बड़ी बात मानी जाएगी।


उन्होंने कहा, "यहां तक कि अगर हमारी पूरी आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाती है और हम मृत्यु दर को 0.1 या 1 प्रतिशत से भी कम रखते हैं, तो हम यह युद्ध जीतेंगे।"


टीकाकरण और सख्त प्रबंधन के कारण तीसरी कोविड लहर नहीं होगी गंभीर: वैज्ञानिक

टर्की में सख्त कोविड प्रोटोकॉल के बीच सलमान-कैटरीना ने की ‘टाईगर 3’ की शूटिंग

प्रधानमंत्री मोदी ने की देश में कोविड से निपटने के लिए स्थिति की समीक्षा की

0Comments