होम > शासन

सीएम योगी ने अयोध्या में भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग मोर्चा की प्रदेश कार्यकारणी की बैठक को सम्बोधित किया

सीएम योगी ने अयोध्या में भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग मोर्चा की प्रदेश कार्यकारणी की बैठक को सम्बोधित किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का उद्देश्य है कि समाज के हर तबके को सम्मान, अधिकार व शासन की योजनाओं का समान रूप से सभी को लाभ मिले। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के विभिन्न उप संगठन जैसे-अनुसूचित जाति मोर्चा, पिछड़ा वर्ग मोर्चा, महिला मोर्चा, युवा मोर्चा, किसान मोर्चा समाज को जोड़ने, जागरूक करने, व्यवस्था के साथ जुड़कर जनकल्याण करने तथा ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की परिकल्पना को साकार करने का माध्यम हैं। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ का मंत्र दिया था।

मुख्यमंत्री अयोध्या में भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग मोर्चा की प्रदेश कार्यकारणी की बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि महापुरुष किसी दल विशेष के नहीं होते हेैं। उनका योगदान देश व समाज के लिए होता है। सभी लोग महापुरुषों के प्रति श्रद्धा का भाव रखकर उनके कार्याें को आगे बढ़ाने का कार्य करें। ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की संकल्पना को साकार करना हम सबका दायित्व है। भाइयों बहनों हमें अपनी मातृभूमि पर गर्व है। युग-युगान्तर से समाज प्रभु श्रीराम के प्रति निषादराज की अगाध आस्था व प्रेम को स्मरण कर रहा है। देश, समाज व धर्म के लिए जिसने योगदान दिया है समाज उसे अनन्तकाल तक स्मरण करता है। भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग मोर्चा का यह कार्यक्रम आप सबके लिए मंगलकारी हो, शुभकारी हो। गांव-गांव तक लोगों को भारतीय जनता पार्टी से जोड़ने के कार्य में आप सफल हों। मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की कृपा हम सब इसी प्रकार बनी रहे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछड़ा वर्ग के नाम पर जिन लोगों ने सत्ता प्राप्त की थी, उन्होंने मात्र 57,678 विद्यार्थियों को पूर्वदशम् छात्रवृत्ति का लाभ अपने कार्यकाल में प्रदान किया था। हमारी सरकार ने इस संख्या को 10 गुना बढ़ाते हुए विगत वर्ष कोरोना कालखण्ड में भी 07 लाख से अधिक विद्यार्थियों को यह छात्रवृत्ति प्रदान की गई। इस वर्ष पूर्वदशम् छात्रवृत्ति के लिए 175 करोड़ रुपए की व्यवस्था हमारी सरकार द्वारा की जा चुकी है। समाजवादी सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान मात्र 10,44,000 विद्यार्थियों को दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति दी थी। हमारी सरकार ने वर्ष 2019-20 में 20,22,800 विद्यार्थियों को दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति का लाभ प्रदान किया है। इस वर्ष इस योजना के लिए 1,200 करोड़ रुपए की व्यवस्था की जा चुकी है, जिसे 02 अक्टूबर व 26 जनवरी को विद्यार्थियों के खाते में अन्तरित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने वर्ष 2017-18 में शादी अनुदान योजना के अन्तर्गत 76,110 परिवारों को 154 करोड़ रुपए की सहायता प्रदान की। वर्ष 2019-20 में 01 लाख परिवारों को शादी अनुदान उपलब्ध कराया गया है। ओ0बी0सी0 के विद्यार्थियों के लिए ‘ओ-लेवल’ व ‘सी0सी0सी0’ की व्यवस्था की गई है। वर्ष 2015-16 में 7,394 तथा वर्ष 2016-17 में 7,392 विद्यार्थियों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के लिए इन दोनों वर्षों में कुल 14 करोड़ रुपए उपलब्ध कराए गए। हमारी सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष 14 से 15 करोड़ रुपए विद्यार्थियों के ‘ओ-लेवल’ व ‘सी0सी0सी0’ के प्रशिक्षण पर खर्च किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना कालखण्ड में सरकार व भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने योजनाओं का लाभ निर्बाध रूप से लोगों तक पहुंचाया व लोगों की मदद की। विपक्ष के लोग इस दौरान घर के अन्दर ट्विटर-ट्विटर खेल रहे थे। यह लोग सी0ए0ए0 के विरोध प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर शामिल हुए, लेकिन कोरोना काल में आम लोगों की मदद के लिए कभी आगे नहीं आए। हर समाज विरोधी व राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को प्रश्रय देना इनका एजेण्डा बन चुका है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ का मंत्र यही है कि शासन की योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव के सभी को मिले। किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा। आजादी के बाद तुष्टिकरण की राजनीति को समाप्त किया गया है। उन्होंने कहा कि जो लोग सामाजिक न्याय के नाम पर लोगों को गुमराह करते थे, जातीय विद्वेष को बढ़ावा देकर सामाजिक खायी को गहरा करने का प्रयास करते थे, आज वे सब बेनकाब हुए हैं। वह सभी योजनाओं का लाभ गरीबों, दलितों, पिछड़ों, वंचितों को नहीं देते थे, उनके हितों पर डकैती डालने का कार्य करते थे। सत्ता मिलते ही उन सभी लोगों ने परिवारवाद को बढ़ावा देकर केवल अपने खानदान के लिए कार्य करते रहे। उनका उद्देश्य सर्वसमावेशी एवं सर्वांगीण विकास करने का नहीं था। इसी कारण जनता का मोह भंग होता गया। आमजनमानस ने उन्हें उखाड़कर फेंक दिया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि आज देश हो या प्रदेश, जनता-जनार्दन का आशीर्वाद और भारतीय जनता पार्टी पर जनाधार लगातार बढ़ता गया। भारतीय जनता पार्टी देश की ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के सबसे बड़े दल के रूप में स्थापित हुई है। यह संकल्प है और इस संकल्प के साथ हम सभी को जुड़ना होगा। किसी समाज को अगर पद्दलित करना हो, तो उस समाज को विभाजित कर दो। उस समाज के महापुरुषों को जातीय खेमों में बांट दो। उसको उसके गांव और गरिमा से वंचित कर दो। यही विदेशी आक्रांताओं ने किया था। महाराणा प्रताप, शिवाजी महाराज, झांसी की रानी लक्ष्मीबाई, झलकारी बाई, ऊदा देवी, रानी दुर्गावर्ती ने अपने स्वयं की रक्षा के लिए नहीं, बल्कि देश और धर्म की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी। पूरा देश उन्हें श्रद्धा के साथ स्मरण करता है। लेकिन कुछ लोगों ने उन्हें जातीय खेमों में बांटकर, उनकी गरिमा और सम्मान को सीमित करने का कार्य किया है। इतिहास को निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए उपयोग किया गया। ऐसी साजिशों के प्रति हमें लगातार जागरूक रहना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराणा प्रताप, महाराजा सुहेलदेव के जीवन आदर्शों को उस रूप में प्रस्तुत नहीं किया गया, जिसके वह हकदार थे। हमारे राष्ट्रवाद के चरित्रों ने राष्ट्रीय अस्मिता की लड़ाई को पूरी मजबूती के साथ लड़ा, जिसमें सन्त समाज का आशीर्वाद भी शामिल था। विदेशी आक्रांता 150 वर्षों तक भारत पर आक्रमण करने का दुस्साहस नहीं कर पाए। यदि समाज ने महाराजा सुहेलदेव को उसी रूप में आदर्श बनाकर रखा होता तो, आने वाले कालखण्ड में भी कोई विदेशी आक्रांता भारत में घुसने का दुस्साहस नहीं कर पाता। अयोध्या में श्रीराम मन्दिर को क्षतिग्रस्त करने और श्रीराम मन्दिर के नाम पर हिन्दु समाज को अपमानित करने का दुस्साहस कोई नहीं कर पाता। जातीय खेमों में महापुरुषों को बांटने और उनकी गरिमा को कम करने का काम किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश को गुलामी की जंजीरों से मुक्त कराने के लिए बड़े-बड़े अभियान और आन्दोलन चलाए गए। आजादी के इस संघर्ष में पिछड़ा वर्ग मोर्चा से जुड़ी विभिन्न जातियों के लोगों ने मिलकर कार्य किया। यह जातियां नहीं हैं, बल्कि हिन्दू समाज के अग्रिम मोर्चे के लड़ाके हैं। निषादराज का प्रभु श्रीराम से लगाव व समर्पण को विस्मृत नहीं किया जा सकता। श्रृंगवेरपुर में निषादराज का भव्य स्मारक हमारी सरकार बना रही है। हजारों वर्षों की विरासत को विस्मृत कर दिया गया था। पिछली सरकारों के समय साम्प्रदायिकता के डर से कोई अयोध्या नहीं आना चाहता था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2017 में हमारी सरकार बनने के बाद सन्त समाज की अनुमति व जनप्रतिनिधियों से विचार-विमर्श करके पहली बार अयोध्या में 51,000 दीपक जलाकर भगवान श्रीराम के प्रति अपनी आस्था प्रकट की गई। दीपोत्सव आज पूरी दुनिया में उत्तर प्रदेश को एक नई पहचान दे रहा है। इस कार्यक्रम में लाखों लोग जुड़ते हैं। देश और दुनिया के रामलीला से जुड़े कलाकारों को सम्मानित किया गया। माटी कला बोर्ड का गठन करके दीयों को प्रदेश की अर्थव्यवस्था के साथ जोड़ा गया। प्रजापति समाज इन दीयों से अपने को मजबूत कर रहा है। प्रजापति समाज के लिए राज्य सरकार द्वारा अप्रैल से जून तक गांव के तालाब की मिट्टी फ्री, इलेक्ट्रिक व सोलर चाक प्रदान किए गए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष दीपोत्सव कार्यक्रम में साढ़े सात लाख दीये जलेंगे और यह सभी दीये अयोध्या में बन रहे हैं। पहले हमें लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा के लिए चीन पर निर्भर रहना पड़ता था। माटी कला बोर्ड से जुड़े कुम्हारों द्वारा लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति एवं मिट्टी के बर्तन बनाए जा रहे हैं। इससे रोजगार का सृजन भी हुआ और हमारे पर्व और त्योहार आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार कर रहे हैं। हमारे पर्वों एवं त्योहारों ने एक नई सोच को विकसित किया है। आस्था व अर्थव्यवस्था को जोड़ने का कार्य हमारी सरकार ने किया है। पिछली सरकारों ने इस सन्दर्भ में कोई ध्यान नहीं दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का लाभ 10 लाख से अधिक बच्चियों को प्रदान किया जा चुका है। इसके तहत प्रदेश सरकार प्रत्येक बच्ची को 06 किस्तों में 15,000 रुपए प्रदान कर रही है। साथ ही, बेटी की शादी के लिए 51,000 रुपए की अतिरिक्त आर्थिक सहायता उपलब्ध करा रही है। बेटियां समाज की विरासत हैं, लक्ष्मी हैं, उन्हें सम्मान व सुरक्षा मिलना ही चाहिए। इसके लिए सरकार पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले नौकरी के नाम पर लूट होती थी। प्रदेश का नौजवान रोजगारविहीन था। प्रदेश में किसी भी नौजवान को उसका हक ईमानदारी से नहीं मिल पाता था। वर्तमान सरकार द्वारा साढ़े चार लाख से अधिक नौजवानों को सरकारी नौकरी निष्पक्ष, पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया के माध्यम से प्रदान की गई है। समाज के प्रत्येक तबके को शासन-प्रशासन में उचित प्रतिनिधित्व देते हुए आगे बढ़ाने का कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि पश्चिमी उत्तर के नौजवान आज सरकार की निष्पक्ष, पारदर्शी एवं भ्रष्टाचारमुक्त व्यवस्था का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। जनपद बागपत का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वहां के एक गांव से 27 नवयुवकों का पुलिस भर्ती में निष्पक्ष चयन हुआ है। जिस बात की खुशी पूरे क्षेत्र में है। इसी प्रकार, आज पूरे प्रदेश में बीजेपी सरकार की ईमानदारी एवं लोगों के कल्याण के लिए प्रतिबद्धता की चर्चा जगजाहिर है।

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक मान्यता प्रदान किए जाने के लिए प्रधानमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पिछली सरकारों ने इस सन्दर्भ में कभी कोई कार्य नहीं किया। यह प्रधानमंत्री की दूरदर्शिता का ही परिणाम है कि आज पिछड़ा वर्ग की समस्याओं व उनके कल्याण के कार्यों को आगे बढ़ाने वाले आयोग को मजबूत किया गया है। अब कोई पिछड़ा वर्ग के अधिकारों पर डकैती नहीं डाल पाएगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों के दौर में प्रदेश में धार्मिक दंगे होना आम बात थी। आज प्रदेश में दुर्गा पूजा, कांवड़ यात्रा सहित विभिन्न पर्व एवं त्योहार शान्तिपूर्ण एवं सौहार्द के साथ बनाए जा रहे हैं। अब करोड़ों कांवड़ यात्रियों पर पुष्प वर्षा की जाती है। आज आस्था के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सकता। भारतीय जनता पार्टी ने आपकी आस्था का सम्मान किया है। लोक कल्याणकारी योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाया है। नौकरी एवं रोजगार के सृजन की कार्यवाही को प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ाया है। प्रदेश की मजबूत कानून व्यवस्था की स्थिति में आज किसी की हिम्मत नहीं है कि प्रदेश में कोई अशान्ति फैला सके। माफिया व अपराधियों में कानून के राज का भय व्याप्त है। पहले रामभक्तों को रोका जाता था और आज जब रामभक्त ने अंगड़ाई ली, तो वह लोग कहते हैं कि हम भी रामभक्त हैं। यह हमारी वैचारिक विजय है, इसके साथ हम सभी को आगे बढ़ना है। एकजुटता के साथ ही हम सभी अपनी व राष्ट्र की अखण्डता की रक्षा कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की संकल्पना को साकार करने के लिए हर एक भारतीय को प्राणप्रण से जुटना होगा। देश में एक नया उत्साह व नई उमंग है। भारत को दुनिया में एक महाशक्ति के रूप में स्थापित करने के लिए हर एक व्यक्ति आगे बढ़ रहा है। भारत दुनिया की ताकत बनेगा। प्रधानमंत्री जी के माध्यम से 135 करोड़ लोगों की आवाज वैश्विक मंच पर पहुंचेगी। मत, मजहब, जाति से ऊपर उठकर ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की संकल्पना को साकार करना हम सबका दायित्व है। देश की सबसे बड़ी आबादी के राज्य उत्तर प्रदेश में भी हमें अपने हृदयतल से वही सन्देश देना है। एक-एक समस्या का समाधान करते हुए सरकार यहां तक पहुंची है। उत्तर प्रदेश अब प्रश्न प्रदेश नहीं रहा, बल्कि सच में उत्तर प्रदेश बन गया है। हर प्रश्न का उत्तर देने की स्थिति में है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले उत्तर प्रदेश देश की छठी अर्थव्यवस्था था। आज उत्तर प्रदेश देश की नम्बर-2 ईकोनाॅमी बन चुका है। पहले उत्तर प्रदेश व्यवसाय की सुगमता यानि ‘ईज़ ऑफ र्डुइंग बिजनेस’ में 14वें नम्बर पर था, आज प्रदेश नम्बर-2 पर आ गया है। दुनिया में कोई भी व्यक्ति निवेश करने के लिए भारत की ओर देखना चाहता है, तो पहले उत्तर प्रदेश को प्राथमिकता दे रहा है। प्रदेश में निवेश का मतलब विकास एवं रोजगार में वृद्धि है। आज उत्तर प्रदेश में निवेश का एक अनुकूल वातावरण बन चुका है क्योंकि प्रदेश सरकार ने सुरक्षा व मजबूत कानून व्यवस्था को स्थापित किया है। सुरक्षा व सुशासन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बिना किसी भेदभाव के हर नागरिक तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में हम लोग प्रवासी मजदूरों को राहत पहुंचा रहे थे, वहीं दूसरी तरफ एक पार्टी के लोग इस व्यवस्था में अवरोध उत्पन्न कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जो हमारे नागरिकों के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास करेगा कानून उसके साथ सख्ती से निपटेगा। आपदा काल में जनता के साथ खिलवाड़ करने वालों को बक्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि हमने हर प्रवासी कामगार व श्रमिक को उसके घर तक पहुंचाने का कार्य किया है। उसे राशन कार्ड उपलब्ध कराते हुए 02 लाख रुपए के सामाजिक सुरक्षा व 05 लाख रुपए का हेल्थकवर भी उपलब्ध कराया। भारतीय जनता पार्टी की सरकार15 करोड़ लोगों को निःशुल्क राशन की व्यवस्था करा रही है। उन्होंने कहा कि हम सबको आने वाले विधान सभा चुनाव के लिए तैयार होना है। प्रदेश के कोने-कोने तक सरकार के लोक कल्याणकारी कार्याें से लोगों को अवगत कराना है। जातिगत राजनीति करने वालों से समाज को जागरूक करना है। कुछ लोग प्रदेश को फिर से दंगायुक्त प्रदेश बनाना चाहते हैं। ऐसे दलों को बेनकाब करने के लिए आवश्यक है एक बार पुनः भारतीय जनता पार्टी की सरकार जनकल्याण के कार्याें को आगे बढ़ायें।

0Comments