होम > विशेष खबर

Challenge : ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य ने आखिर क्या कहा बागेश्वर सरकार को....,जाने कौन आया समर्थन में

Challenge : ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य ने आखिर क्या कहा बागेश्वर सरकार को....,जाने कौन आया समर्थन में

आजकल पुरे देशभर में बागेश्वर धाम  का मामला गरमाया हुआ हैं। जिसमे बागेश्वर धाम सरकार के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री  के चमत्कारो पर  बहस छिड़ी हुई है। पहले तो लोगो और नेताओ ने इसमें अपने अलग - अलग बयान जारी किये कुछ इनमे उनके साथ दिख रहे हैं तो कुछ इसका जमकर विरोध कर रहे हैं, इसी बीच अब  पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री  के चमत्कारो पर दो शंकराचार्यों के अलग-अलग बयान सामने आये हैं। 

बागेश्वर धाम के मामले में बात करते हुए ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने उन्हें एक चैलेंज दिया है। अगर वो सच में चमत्कार कर सकते हैं, तो  बागेश्वर सरकार जोशीमठ में धंसकती हुई जमीन को रोक कर दिखाएं, तो उनके चमत्कार को में मान्यता दूंगा। वहीं, द्वारका शारदा पीठ के स्वामी सदानंद सरस्वती बागेश्वर सरकार के पक्ष में नजर आ रहे हैं।

जैसा की आपको पता हैं महाराष्ट्र के नागपुर में पिछले दिनों से  (बागेश्वर धाम सरकार) पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के दिव्य दरबार लगाने के बाद अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति के संस्थापक श्याम मानव ने उन्हें चुनौती दी थी। जिसे धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने स्वीकार कर लिया था । इसके बाद उन्होंने अपना दरबार लगाया, दरबार में  बागेश्वर धाम सरकार के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने श्याम मानव को खूब खरी-खोटी सुनाई। इसके बाद से ये मुद्दा काफी तेज हो गया जिसके बाद छत्तीसगढ़ के एक मंत्री ने भी उन पर सवाल उठाया। मध्यप्रदेश के नेता प्रतिपक्ष ने भी उनपर अपना विरोध जताया। वहीं, भाजपा के दो मंत्री उनके समर्थन में उतरे हुए है।

ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने क्या कहा 

ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के बारे में बात करते हुए कहा  कि - हमारे मठ में दरार आ गई है, उसे जाेड़ो। जोशीमठ में आई दरारों को रोको। अगर ऐसा कर सकते हैं, तो हम फूल बिछाकर उनकाे ले आएंगे, झुक कर पलकें बिछाएंगे। देश की जनता भी चाहती है कि कोई चमत्कार हो। जो चमत्कार जनता की भलाई में हो, तो उसे हम नमस्कार करेंगे, नहीं तो ये छलावा है। 

आगे बात करते हुए उन्होंने कहा - ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कोई भविष्यवाणी की जा रही है, तो शास्त्र उसे मान्यता देता है। जो भी धर्मगुरुओं द्वारा कहा जाए, वो शास्त्र की कसौटी पर कसा हुआ होना चाहिए। मनमाना नहीं होना चाहिए। ऐसा है, तो हम उसे मान्यता देते हैं, लेकिन अगर वो अपने मन का  कह रहे हैं, तो गलत है।

आगे बात करते हुए उन्होंने कहा कि देश में धर्मांतरण धार्मिक कारणों से नहीं हो रहा हैं । ऐसे लोगों का उद्देश्य राजनीतिक है। इसका विरोध भी राजनीतिक कारणों से हो रहा है, क्योंकि उनके वोट बढ़ जाएंगे। इसमें धर्मांतरण करने और कराने वाले दोनों पॉलिटिकल हैं। इस क्षेत्र में चमत्कार दिखाइए। अगर आपके पास ऐसी कुछ शक्तियां आ गई हैं, तो धर्मांतरण, आत्महत्या, झगड़े-फसाद को रोक दें। राष्ट्र और जनता के लिए उपयोग हो, तो उसे हम मानेंगे।

द्वारिका पीठ के जगतगुरु शंकराचार्य सदानंद सरस्वती ने क्या कहा 

द्वारिका पीठ के जगतगुरु शंकराचार्य सदानंद सरस्वती जब शनिवार को कटनी पहुंचे, तो उन्होंने इस मामले में बात करते हुए कहा कि जो लोग (बागेश्वर धाम सरकार)  पर प्रश्न उठा रहे हैं, क्या वो कभी बागेश्वर धाम गए हैं ?  क्या उन्होंने लोगों का भला करने के उनसे किसी भी प्रकार की दक्षिणा ली है, या पैसा लिया हैं ? अगर कोई ऐसा व्यक्ति, जिसको उन्होंने ठीक करने का वादा किया। कोई एग्रीमेंट किया? वो ठीक नहीं हुआ हो? ऐसा कुछ नहीं है। आपको पहले विश्वास और अंधविश्वास में अंतर समझना पड़ेगा। अगर किसी देवी-देवता का आश्रय लेकर लोग ठीक हो रहे हैं, तो क्या गलत है? ये तो हमारी परंपरा है। आगे बात करते हुए उन्होंने कहा कि वे हजारों लोगों की भीड़ के सामने अपना ज्ञान सिद्ध कर चुके हैं, तो फिर अंधविश्वास कैसे? इसका प्रमाण क्या है? हजारों लोगों को बागेश्वर धाम से लाभ मिल रहा है। जब वहां जाने वाले लोग संतुष्ट होकर जा रहे हैं। चाहे वो नागपुर वाले हों या कोई और हो , क्या वे वहां गए। अगर आपको जिज्ञासा है, तो आप जाइए। आरोप लगाना बहुत सरल है, लेकिन उसे सिद्ध करना कठिन है। बागेश्वर सरकार पर प्रश्न उठाने वाले हिंदू, सनातन धर्म विरोधी हैं। हिंदू ही हिंदू धर्म की निंदा करते हैं। जो लोग ऐसा कर रहे हैं, वो नास्तिक हिंदू है।

इसी बीच सतना के मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी भी पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के समर्थन पर उतर गए हैं, उन्होंने  (बागेश्वर धाम सरकार) धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर सवाल उठाने वाले श्याम मानव पर पलटवार करते हुए कहा कि श्याम मानव लोगों को हिप्नोटाइज करता है। हिप्नोटिइज करने की ट्रेनिंग भी देता है। ऐसे लोग राक्षसी प्रवृत्ति के होते हैं। हम उसके खिलाफ थाने में केस दर्ज कराएंगे। जरूरत पड़ी तो कोर्ट तक जाएंगे।

इसी बीच मध्यप्रदेश की मंत्री ऊषा ठाकुर और हरदीप सिंह डंग भी धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के समर्थन में आये हैं मंत्री ऊषा ठाकुर ने कहा कि धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बागेश्वर बाबा के अनन्य भक्त हैं। उन्हीं की कृपा से ये सब हो रहा है। जो वो कर रहे हैं वह मंत्र और प्रार्थना विज्ञान है। कुछ राष्ट्रद्रोही, वामपंथी उनके पीछे पड़े हैं। वहीं, हरदीप सिंह डंग ने कहा है कि हमें गर्व है कि ऐसे संत भारत की भूमि पर हैं।
msn