मध्य प्रदेश में 5 अगस्त से शुरू होगी 9वीं और 10वीं की कक्षाएं : शिवराज

मध्य प्रदेश में 5 अगस्त से शुरू होगी 9वीं और 10वीं की कक्षाएं : शिवराज

भोपाल | कोरोना में सबसे ज्यादा प्रभावित अगर कोई क्षेत्र हुआ है तो वह है शिक्षा का क्षेत्र (Worst affected education sector)। देश भर में स्कूल लगभग 2 साल से बंद पड़े हैं। परीक्षाओं भी स्थगित की जा रही हैं और पढ़ाई का भी नुक्सान हो रहा है।  लेकिन अब कोरोना के हालात सुधरने के साथ साथ स्कूलों को भी खोलने पर विचार किया जा रहा है। 

मध्य प्रदेश में कोरोना का संक्रमण (Corona infection in Madhya Pradesh) लगातार कम हो रहा है, आम जनजीवन सामान्य हो चला है। ऐसे में स्कूलों को खोलने की तैयार भी हो चली है। 26 जुलाई से स्कूलों में 11वीं व 12वीं की कक्षाएं एवं छात्रावास खोले जाएंगे। कक्षा 9वीं एवं 10वीं की कक्षाएं पांच अगस्त से प्रारंभ की जाएंगी। 

मुख्यमंत्री (Chief minister Shivraj Singh Chouhan) ने कहा कि सभी स्कूल 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ प्रारंभ होंगे। जुलाई महीने में सप्ताह में दो दिन तथा अगस्त माह में विद्यार्थी सप्ताह में चार दिन विद्यालय आ सकेंगे। कक्षाएं खोली जाने के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट (Crisis management) समूह स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार निर्णय ले सकेंगे। स्कूलों और छात्रावास में कोविड-19 अनुकूल व्यवहार अपनाने के लिए पृथक से एसओपी (SOP) जारी की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कक्षा 12वीं के लिए कोचिंग सेंटर 5 अगस्त से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुल सकेंगे। क्राइसिस मैनेजमेंट समूह और स्थानीय प्रशासन द्वारा सतत मॉनिटरिंग की जाएगी। सभी कोचिंग सेंटर को कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करना आवश्यक होगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के महाविद्यालयों (Universities in MP) में एक सितंबर से नवीन शिक्षा सत्र आरंभ होगा। वर्तमान में ओपन बुक पद्धति से परीक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप महाविद्यालयों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ऑफलाइन कक्षाओं (offline classes) का संचालन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि स्कूलों एवं महाविद्यालयों के सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों का अभियान चलाकर शत-प्रतिशत टीकाकरण कराया जाए। इसी के साथ अधिक से अधिक विद्यार्थियों का टीकाकरण कराया जाए (Students Vaccination)।

0Comments