लिव इन रिलेशनशिप में 20 साल बिताई जिंदगी, आखिरकार दंपत्ति ने रचाई शादी

लिव इन रिलेशनशिप में 20 साल बिताई जिंदगी, आखिरकार दंपत्ति ने रचाई शादी

शादी (Marriage) इंसान की जिंदगी का एक अहम पड़ाव है। इसके लिए एक—दूसरे को जानना काफी जरूरी है, इसके लिए लोग शादी के बंधन में बंधने से पहले आपस में खूब सारा वक्त बिताते हैं, जिसे कोर्टशिप (Courtship) के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन आज हम आपको जिस दंपत्ति के बारे में बताने जा रहे हैं, उन्होंने एक साथ 20 साल तक रहने के बाद आखिरकार अब शादी के बंधन में बंधने का फैसला लिया।


हम यहां 60 साल के नारायण रैदास और 55 साल की रामरती की बात कर रहे हैं, जो साल 2001 सके लिव इन रिलेशनशिप (live in relationship) में रह रहे थे। उनकी यह शादी उन्नाव (Unnao) जिले के गंज मुरादाबाद के रसूलपुर रुरी गांव में हुई। दरअसल, गांव वालों के द्वारा इन्हें बिना शादी के साथ में रहने के चलते खूब ताना मारा जाता था। इसके बाद ग्राम प्रधान रमेश कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता धर्मेंद्र बाजपेयी और सुनील पाल ने इन दोनों को खूब समझाया कि अब ये शादी कर लें, ताकि उनके सहित उनका 13 साल का बेटा अजय भी समाज के तानों से बच सके। इतना ही नहीं, इनकी शादी का पूरा खर्च उठाने का वादा भी किया गया और फिर आखिरकार नारायण और रामरती शादी करने के लिए तैयार हो गए।


इनकी शादी बड़े ही धूमधाम से की गई। मेहमानों के लिए भोजन, बैंड—बाजे और डीजे का इंतजाम किया गया। शादी की रस्म अदा करने के लिए इनका बेटा बारातियों का नेतृत्व किया और इन्हें साथ में लेकर गांव में पहुंचा। दुल्हन पक्ष की तरफ से बारातियों का स्वागत करने के लिए गांव वालों को जिम्मेदारी सौंपी गई। शादी करने से पहले दूल्हा-दुल्हन ने गांव के ब्रह्मा देव बाबा के मंदिर में जाकर आशीर्वाद लिया। इनकी शादी से इनका बेटा अब बड़ा खुश है।


0Comments