होम > विशेष खबर

नवरात्रि में भूल कर भी न करे ये काम ? वर्ना हो जायेगा भारी नुक्सान

नवरात्रि में भूल कर भी न करे ये काम ? वर्ना हो जायेगा भारी नुक्सान

हिंदू पंचांग के अनुसार चैत्र का महीना शुरू हो गया है और इसी महीने में सबसे धार्मिक पर्व चैत्र नवरात्रि पड़ती है। नवरात्रि का त्योहार पूरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस वर्ष नवरात्रि का यह पावन पर्व 2 अप्रैल 2022 से 11 अप्रैल तक मनाया जाएगा। नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। मां दुर्गा को सुख, समृद्धि और धन की देवी कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा की पूरी भक्ति के साथ पूजा करने से वह अपने भक्तों पर प्रसन्न होती हैं। साथ ही उनकी सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं। लेकिन कुछ चीजें ऐसी हैं जिन्हें नवरात्रि के दौरान नहीं करने की सलाह दी जाती है। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से जातक पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आइए जानते हैं चैत्र नवरात्रि में कौन-कौन से काम नहीं करने चाहिए।


लहसुन-प्याज से बचें


नवरात्रि के दौरान घर में भोजन का बहुत महत्व होता है और देवताओं को केवल सात्विक चीजें ही अर्पित की जाती हैं। लहसुन और प्याज को प्राचीन काल से ही तामसिक भोजन की श्रेणी में रखा जाता रहा है। ऐसे में इन नौ दिनों में लहसुन-प्याज का सेवन बिल्कुल भी न करें।


मांसाहारी भोजन


नवरात्रि में भक्त व्रत रखकर मां दुर्गा की पूजा करते हैं। इस दौरान देवी के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। ऐसे में नवरात्रि के दौरान मांसाहारी भोजन से बचना चाहिए।


खंडित मूर्तियां


अगर आपके घर के मंदिर में खंडित या टूटी हुई मूर्तियां रखी हैं तो नवरात्रि से पहले ही उन्हें बाहर कर दें। क्योंकि खंडित मूर्तियां दुर्भाग्य का कारण बनती है इसलिए इन्हें किसी नदी या तालाब में विसर्जित कर देना चाहिए।


फटे पुराने जूते


नवरात्रि के दौरान घर की साफ-सफाई की जाती है क्योंकि इस दौरान 9 दिनों के मां दुर्गा धरती पर आती हें ऐसे में घर में मौजूद खराब व फटे-पुराने जूते-चप्पलों को बिना देर किए बाहर निकाल दें क्योंकि इनकी वजह से घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है। कोशिश करें कि रसोई घर में मौजूद टूटे-फूटे बर्तन भी बाहर कर 


शराब का दुरुपयोग


किसी भी पावन पर्व पर शराब का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। नवरात्रि का त्योहार देवी दुर्गा की पूजा के लिए अत्यंत पवित्र माना जाता है, इसलिए नवरात्रि के दौरान शराब के सेवन से बचना चाहिए।


बाल और दाढ़ी काटो


ऐसी धार्मिक मान्यता है कि अगर आप नवरात्रि में नौ दिनों तक व्रत रखते हैं तो बाल और दाढ़ी नहीं काटनी चाहिए। इस दौरान बाल या दाढ़ी काटने से भविष्य में सफल होने की संभावना कम हो जाती है। ऐसे में नवरात्र के नौ दिनों में बाल काटने से बचना चाहिए।


नाखून काटना


नवरात्रि में नाखून काटना प्रतिबंधित है। ऐसी धार्मिक मान्यता है कि नवरात्रि के इन नौ दिनों में नाखून काटने से मां नाराज हो जाती है और अशुभ फल देती है, इसलिए कुछ लोग नवरात्रि शुरू होने से पहले नाखून काट देते हैं।

 

यहां दी गई सभी जानकारियां सामाजिक और धार्मिक आस्थाओं पर आधारित हैं Medhajnews.in इसकी पुष्टि नहीं करता। इसके लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें।