होम > राज्य > हरियाणा

सरकार आत्मनिर्भर भारत की ओर अग्रसर : दत्तात्रेय

सरकार आत्मनिर्भर भारत की ओर अग्रसर : दत्तात्रेय


गुरुग्राम| हरियाणा प्रति व्यक्ति आय, औद्योगिक उत्पादन, ऑटोमोबाइल उद्योग, विदेशी निवेश आकर्षित करने, शिक्षा, खेल, सेना, कृषि और परिवहन आदि में देश में अग्रणी राज्य है। ये कहना है हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय का। वो देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गुरुग्राम के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के उपरांत संबोधन कर रहे थे।


हरियाणा को विभिन्न क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बनाने के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के लिए एक नया विभाग बनाया गया है। उद्योगों को बढ़ावा देने और निवेश आकर्षित करने के लिए हरियाणा उद्यम और रोजगार नीति लागू की गई है। उन्होंने कहा कि इस नीति के तहत 5 लाख नए रोजगार सृजित करने का लक्ष्य रखा गया है।


राज्यपाल ने राज्य में बेहतर कानून व्यवस्था की स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि साइबर अपराधों से जुड़ी चुनौतियों से निपटने के लिए देश का पहला प्रशिक्षण केंद्र गुरुग्राम में स्थापित किया गया है। इतना ही नहीं, किसी भी संकट या आपात स्थिति में मदद के लिए डायल 112 सेवा शुरू की गई है, जिसके सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं।


राज्यपाल ने राज्य में 'ई-गवर्नेंस टू गुड गवर्नेंस' कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि इससे सरकार के काम में पारदर्शिता आई है।


उन्होंने सरकार की उपलब्धियों पर बोलते हुए कहा कि हरियाणा को अंत्योदय सरल योजना के लिए डिजिटल इंडिया अवार्ड 2020 मिला है। उन्होंने हाल ही में संपन्न टोक्यो ओलंपिक खेलों में हरियाणा के खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन का भी जिक्र किया और कहा कि पंचकूला में आयोजित कार्यक्रम में इन खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी की पेशकश और अन्य सुविधाओं के साथ 23 करोड़ 25 लाख रुपये की राशि दी गई।


इसके अलावा, इस अवसर पर राज्यपाल द्वारा पहली बार एम3एम फाउंडेशन और डीएलएफ फाउंडेशन को 'कोविड-19 के दौरान सर्वश्रेष्ठ सीएसआर प्रथाओं' के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।


एम3एम फाउंडेशन की ट्रस्टी डॉ. पायल कनोदिया ने कहा, "मैं इस अवसर पर हरियाणा के माननीय राज्यपाल, डीसी गुरुग्राम और जिला प्रशासन, गुरुग्राम को धन्यवाद देना चाहती हूं कि उन्होंने कोविड-19 के दौरान राष्ट्र की सेवा में हमारे प्रयासों को मान्यता दी।"


डीएलएफ फाउंडेशन की सीईओ गायत्री पॉल ने कहा, "यह पुरस्कार प्राप्त करना डीएलएफ फाउंडेशन के लिए एक बड़ा सम्मान है। हम विनम्र हैं और राज्य के सामाजिक विकास में सार्थक योगदान देने और लोगों के जीवन में सार्थक बदलाव लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"