होम > सेहत और स्वास्थ्य

ट्रेडिशनल सैंड रोस्टिंग भोजन के लाभ और मॉडर्न रसोई में इसे कैसे करें

ट्रेडिशनल सैंड रोस्टिंग भोजन के लाभ और मॉडर्न रसोई में इसे कैसे करें

सैंड रोस्टिंग क्या होता है ?

सैंड रोस्टिंग एक भूनने का तरीका होता है जिसमे साफ सैंड को अधिक तापमान पर गर्म किया जाता है और कई प्रकार के खाद्य पदार्थ को उसमे भुना जाता है। यह हो जाने के बाद भोजन, खाने के लिए तैयार हो जाता है। 

सैंड रोस्टिंग के लाभ

आज के समय में खाना बनाने की बहुत सारी विधि आ गई है जैसे कि उथले-फ्राइंग,डीप-फ्राइंग, बेकिंग,आदि। ऐसे ही एक सैंड रोस्टिंग' भी होता है जो बाजरा, नट्स, अनाज, आदि को भुनाने के लिए किया जाता है और यह एक स्वस्थ तरीका है जो स्ट्रीट फूड विक्रेताओं द्वारा व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। सैंड रोस्टिंग वाले भोजन से लोगो का वजन भी नहीं बढ़ता है।  सैंड रोस्टिंग को तेल मुक्त, चीप और स्वस्थ माना जाता है।

क्या सैंड रोस्टिंग सच में स्वस्थ है?

स्टडी के अनुसार, सैंड रोस्टिंग अधिक तापमान वाले अल्पकालिक उपचार से भोजन कुरकुरा हो जाता है, और भोजन में परिणामस्वरूप रंग की सुगंध, बनावट, और स्वाद में भी सुधार होता है। सैंड की प्रक्रिया में भुने हुवे भोजन से व्यक्ति की प्रोटीन पाचन क्षमता, कार्बोहाइड्रेट,आहार फाइबर,एंटीऑक्सिडेंट बढ़ता है। यह सैंड रोस्टिंग की प्रक्रिया फलियों और अनाज में अंतर्निहित चींटी पोषक तत्वों के स्तर को भी कम करती है।

कौन-कौन से खाद्य पदार्थ सैंड रोस्टिंग के लिए अच्छे हैं

सैंड में अक्सर चपटे चावल, पफ्ड राइस, और मूंगफली जैसे कई प्रकार के खाद्य पदार्थ सैंड में भुने जाते हैं। सैंड का इस्तमाल अंडे,  सब्जियों, मछली, मांस, और केक को पकाने के लिए भी किया जाता है। इसको रसोई में करने के लिए मनुष्य को कुछ साफ रेत और एक लोहा के कढ़ाई की आवश्यकता होती है। कढ़ाई में सैंड को उच्च आंच पर गर्म करना होता है, उसमे  नट्स और मूंगफली जोड़ें  को भुनाने के लिए एक स्पैटुला का यूज़ करे और  भूने हुए नट्स को अलग अलग करने के लिए छलनी का उपयोग किया जाता है।  -BS