होम > सेहत और स्वास्थ्य

मानसून के मौसम में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करने वाले फल और सब्जियां

मानसून के मौसम में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करने वाले फल और सब्जियां

अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए एक स्वस्थ आहार आवश्यक है, खासकर मानसून के मौसम में, जब कई लोग विभिन्न जीवाणु संक्रमण से बीमार हो जाते हैं। अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए मानसून के मौसम में विभिन्न प्रकार के फलों और सब्जियों का सेवन करना महत्वपूर्ण है।

बेर

मानसून के दौरान आलूबुखारा युक्त आहार आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देगा और इस मौसम की सामान्य बीमारियों को दूर रखेगा क्योंकि इनमें विटामिन सी और के, पोटेशियम, तांबा और फाइबर होता है। बेर खाने के लिए मानसून का मौसम एक अच्छा समय है, क्योंकि उनके पास शक्तिशाली स्वास्थ्य लाभ हैं।

चुकंदर

हम सभी कभी कभी कम हीमोग्लोबिन के स्तर का अनुभव करते हैं। मानसून की सभी सब्जियों में चुकंदर ही एकमात्र ऐसी सब्जी है जो हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकती है। मैंगनीज, फाइबर, विटामिन सी, पोटेशियम और आयरन जैसे खनिजों से युक्त होने के अलावा, चुकंदर उन लोगों के लिए एक आदर्श भोजन स्रोत है, जिन्हें उच्च स्तर के पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

जामुन

जामुन में कैल्शियम होता है, जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलावा, फल पेट की समस्याओं में भी मदद कर सकता है जो मानसून के मौसम में आम हैं। साथ ही, ये फल ब्लड सर्कुलेशन, लीवर फंक्शन और किडनी फंक्शन को बढ़ाते हैं। विटामिन सी और फाइबर में उच्च होने के अलावा, जामुन में आयरन भी होता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में सहायक होता है।

लौकी

लौकी, जिसे कभी-कभी लौकी भी कहा जाता है, को साल के इस समय के आसपास स्वास्थ्यप्रद सब्जियों में से एक माना जाता है। फाइबर के शरीर में आसानी से अवशोषित होने के परिणाम स्वरूप, यह पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसमें उच्च मात्रा में आयरन, साथ ही विटामिन बी और सी भी होते हैं, जिन्हें शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में जाना जाता है।

लीची

भारत में मानसून का मौसम इसकी उच्च जल सामग्री के कारण लीची की खेती के लिए आदर्श है। यह फलों का रस सर्दी, एसिड रिफ्लक्स और पाचन समस्याओं जैसी बीमारियों के लिए एक उपाय प्रदान कर सकता है। लीची उन अस्थमा रोगियों की भी सहायता कर सकती है जिन्हें बरसात के मौसम में सांस लेने में कठिनाई होती है।

खीरा

खीरा उगाने के लिए मानसून का मौसम आदर्श समय है, भले ही वे पूरे साल उगाए जा सकते हैं। ठंडी जलवायु और प्रचुर मात्रा में वर्षा जल खीरे के पौधों के तेजी से विकास में योगदान करते हैं। मानसून के मौसम में एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए, खीरा शरीर को बहुत जरूरी हाइड्रेशन प्रदान करता है।                                                                                                                                                    -SK