होम > सेहत और स्वास्थ्य

कच्चा पपीता और उसके क्या फायदे है

कच्चा पपीता और उसके क्या फायदे है

कच्चा पपीता या कच्चा हरा पपीता अक्सर एक ऐसा भोजन होता है जिसे कम आंका जाता है। यह एक छोटे बारहमासी पौधे से प्राप्त किया जाता है जो उष्णकटिबंधीय देशों का मूल निवासी है। विटामिन, प्रोटीन, पपैन, फाइटोन्यूट्रिएंट्स और काइमोपापेन जैसे एंजाइमों जैसे आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर, कच्चा पपीता कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसमें जीवाणुरोधी और घाव भरने वाले गुण भी होते हैं और कब्ज के साथ मदद करते हुए एक प्रभावी पाचन सहायता के रूप में कार्य करता है। आज, हम आपको कच्चे पपीते के कई स्वास्थ्य लाभों के बारे में बताएंगे जो इसे एक सच्चा पाक चमत्कार बनाते हैं।

 

डेंगू बुखार के लिए मदद करता है: यदि आपका कोई निकटतम और प्रिय व्यक्ति डेंगू से पीड़ित है, तो उन्हें कच्चे पपीते के पत्तों का रस दें। यह सफेद रक्त कोशिकाओं के प्लेटलेट काउंट को बढ़ावा देने में मदद करेगा, जो इस बुखार के दौरान काफी कम हो जाते हैं। हालांकि, इस सिद्धांत को साबित करने के लिए अभी तक कोई विशिष्ट अध्ययन या शोध नहीं हुआ है।

 

डॉयबिटीज़ का प्रबंधन करने में मदद करता है: हरे पपीते में कई महत्वपूर्ण खनिज होते हैं और यह शरीर में ग्लूकोज के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करता है। ये खनिज इंसुलिन की रिहाई को बढ़ाने में भी सहायक होते हैं। यह प्रमुख एंजाइमों के खिलाफ भी काम कर सकता है, जो 2 टाइप के डॉयबिटीज़ के लिए जिम्मेदार हैं।

 

पाचन में सहायता: कच्चे पपीते आहार फाइबर में समृद्ध होते हैं, जो किण्वित स्टार्च का उत्पादन करने में मदद करता है जो अंततः आंत में लाभकारी बैक्टीरिया के लिए भोजन (प्रीबायोटिक) बन जाता है। यह आगे एक स्वस्थ आंत प्राप्त करने में मदद करता है।

 

कब्ज से बचाता है: कच्चे पपीते में कई स्वस्थ एंजाइम मौजूद होते हैं जो कुशलता से आपके पेट को साफ करते हैं और आपको विष मुक्त पाचन प्रक्रिया प्रदान करते हैं। इसके अलावा, पपीता मल त्याग को नियंत्रित करता है क्योंकि यह प्रकृति में एंटी-परजीवी और एंटी-अमीबिक है, और इसके माध्यम से, यह हमारे गैस्ट्रिक सिस्टम को अस्वास्थ्यकर गैस इकट्ठा करने की अनुमति नहीं देता है।  -BS