होम > सेहत और स्वास्थ्य

मां के सामने हुई दर्दनाक मौत 2 साल के मासूम बच्चे की छोटे से आलू के टुकड़े ने ले ली जान

मां के सामने हुई दर्दनाक मौत 2 साल के मासूम बच्चे की छोटे से आलू के टुकड़े ने ले ली जान

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में महज एक आलू के टुकड़े से दो साल के मासूम बच्चे की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मासूम ने आलू का टुकड़ा निगल लिया, जो कि उसकी सांस की नली में फंस गया था कच्चा आलू का टुकड़ा 2 साल के मासूम बच्चे के लिए काल बन गया। सब्जी के लिए आलू काट रही मां के पास से बच्चे ने एक आलू का टुकड़ा उठाया और उसे निगल लियाऔर उसके गले के अन्दर फंस गया।

नरैनी थाना क्षेत्र स्थित कबौली गांव के निवासी मुनीम की पत्नी अस्मीन बुधवार को सवेरे लगभग 8 बजे अपने घर में खाना बनाने के लिए सब्जी काट रही थी, पास ही उनका 2 वर्षीय का बेटा मुर्तुजा खेल रहा था.अचानक उसने सब्जी की थाली से आलू का टुकड़ा उठाया और खा लिया।और मां को उसकी ओर ध्यान नहीं गया, वहीं जब कुछ देर बाद ही बच्चे को सांस लेने में तकलीफ होने लगी और बच्चा दर्द से कराहने लगा, तब मां ने उसकी पीठ में थपकी देकर उसके गले में फंसे आलू को निकालने की कोशिश की। लेकिन तब तक बच्चे की हालत बिगड़ती चली गई, इसके बाद बच्चे का अचानक दम घुटने लगा और देखते देखते ही उस बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई।

इस बीच परिजनों ने तत्काल निजी वाहन से उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नरैनी पहुंचाया, और डॉक्टरों ने भी वहां बच्चे को मृत घोषित कर दिया. इस घटना से परिवार के लोगों में कोहराम मच गया है और परिजनों के मुताबिक मृतक अपने दो बहनों के बीच में छोटा भाई था. वह घर का इकलौता बेटा था। इस बारे में कैलाश मल्टी स्पेशलिस्टी हॉस्पिटल एंड एन टी सेंटर के सर्जन एवं कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ भूपेंद्र सिंह ने बताया कि आलू का टुकड़ा खाते समय बच्चे ने मुंह से कुछ बोला होगा, तभी वह आलू का टुकड़ा सीधे सांस की नली में फंस गया।

डॉ. भूपेंद्र सिंह ने बताया कि खाते समय कभी भी बोलना नहीं चाहिए, क्योंकि खाते समय बोलने से सांस की नली खुल जाती है और खाने का टुकड़ा सांस की नली में जाकर फंस जाता है, इससे गला चोक होने की संभावना रहती है, इसी कारण इस दो साल के बच्चे के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ, जिससे उसकी मौत हो गई।