होम > सेहत और स्वास्थ्य

कितना खतरनाक है कोरोना का नया XE वेरिएंट, जानें इसके लक्षण

कितना खतरनाक है कोरोना का नया XE वेरिएंट, जानें इसके लक्षण

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच नए वेरिएंट की पुष्टि हुई है। भारत में XE वेरिएंट आ चुका है। इसकी जानकारी INSACOG ने जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच करने वाली संस्था ने इसकी पुष्टी कर दी है।

INSACOG के वीकली बुलेटिन में सामने आया कि भारत में XE वेरिएंट एंटर कर चुका है। XE वेरिएंट ओमिक्रॉन वेरिएंट की सब लीनेज है, जो ओमिक्रॉन के मूल रूप से 10 गुणा अधिक संक्रामक है। बता दें कि XE वेरिएंट का पहला मामला दुनिया में इस वर्ष ब्रिटेन में मिला था।

XE वेरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ये ओमिक्रॉन की सब लीनेज BA.1 और BA.2 का मिश्रण है। ये BA.2 से 10 गुणा अधिक संक्रामक है। INSACOG के मुताबिक भारत में अभी ये वेरिएंट उभरा नहीं है। वहीं ये जानकारी भी नहीं है कि इस वेरिएंट का लोगों पर कितना गंभीर प्रभाव पड़ रहा है।

जानें इस XE वेरिएंट के लक्षण

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक ओमिक्रॉन का म्यूटेशन मानकर इस XE वेरिएंट की पड़ताल की जा रही है। इन नए वेरिएंट के कारण स्थिति बदल सकती है। वहीं माना जा रहा है कि इसे लेकर किसी तरह का नया लक्षण सामने नहीं आ रहा है। अबतक की जानकारी के मुताबिक बुखार, गले में खराश, खांसी, जुकाम, नाक बहना, बदन दर्द, त्वचा में जलन, डिसकलरेशन, गैस्ट्रोइंटसटाइनल संबंधित परेशानिया इसका मुख्य लक्षण हो सकती है।

शुरूआती तौर पर सामने आया कि XE वेरिएंट  में कई महत्वपूर्ण बदलाव हुए हैं जिससे सावधान रहने की आवश्यकता है। ये वेरिएंट म्यूटेशन के कारण इम्यूनिटी से बचने में सक्षम है। इसके कारण संक्रामकता अधिक बढ़ी है। इस म्यूटेशन के कारण कोरोना की चपेट में आए लोगों को री इंफेक्शन का खतरा भी हो सकता है।

चौथी लहर का खतरा बरकरार

इस XE वेरिएंट  के कारण अब देश में चौथी लहर का खतरा भी मंडरा रहा है। ये वेरिएंट अन्य वेरिएंट की अपेक्षा 10 गुणा अधिक संक्रामक है। ऐसे में अगर नई लहर आती है तो मामलों में जोरदार तरीके से इजाफा होगा।