होम > सेहत और स्वास्थ्य

कोविड के मरीज 14 दिन रहें क्वारंटीन, WHO ने बताई ये बड़ी वजह

कोविड के मरीज 14 दिन रहें क्वारंटीन, WHO ने बताई ये बड़ी वजह

दुनिया भर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में एक बार फिर से इजाफा होने लगा है। कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हालातों की समीक्षा की है। संगठन ने प्रोटोकॉल को लेकर समीक्षा की है। संगठन ने साफ किया कि कोरोना से संक्रमित हर मरीज को अभी 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहना जरुरी है।


संगठन ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति भले ही चार से पांच दिन में स्वस्थ हो जाता है, मगर उन्हें पूरे 14 दिनों तक क्वारंटीन में रहना जरुरी है। 


क्वारंटीन में रहने से कम होंगे कोरोना के मामले


संगठन की मानें तो सभी राज्यों को ताजा हालात के मुताबिक क्वारंटीन समय सीमा को तय करना चाहिए। ये एक महत्वपूर्ण निर्णय है जिसे पूरा करना बहुत आवश्यक है। जिन देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले कम हैं वहां क्वांराइन के जरिए कोरोना के मामलों को कम किया जा सकता है।


भारत में ओमिक्रॉन के पुए 2135 मामले


इसी बीच भारत में कोरोना वायरस के साथ ही ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामले बढ़ रहे है। बुधवार को ओमिक्रोन का अंकड़ा बढ़कर 2135 हो गया है। राहत की बात है कि ओमिक्रोन से संक्रमित कुल 828 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।


फेंफड़ों पर असर नहीं करता ओमिक्रॉन


एक ताजा स्टडी में सामने आया कि ओमिक्रॉन वेरिएंट का असर फेंफड़ों पर नहीं होता है। ये फेंफड़ों को अधिक नुकसान नहीं पहुंचा रहा है। ये ऊपरी श्वसन प्रणाली को प्रभावित करता है।