होम > सेहत और स्वास्थ्य

ओमिक्रॉन : सर्दी-ज़ुकाम का मतलब कोरोना तो नहीं, जानिए पूरी जानकारी

ओमिक्रॉन : सर्दी-ज़ुकाम का मतलब कोरोना तो नहीं, जानिए पूरी जानकारी

सर्द मौसम है और इसी बीच कोरोना वायरस का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट तेज़ी से फैल रहा है।आपको कैसे पता चलेगा कि आपको कोविड हो गया है या ये महज़ आम सर्दी-ज़ुकाम है? इंग्लैंड की नेशनल हेल्थ सर्विस यानी एनएचएस का कहना है कि अभी भी आम तौर पर होने वाले इन कोरोना लक्षणों को लेकर सतर्क रहने की ज़रूरत है, जिसमे :


लगातार हो रही खांसी

तेज़ बुखार

गंध और स्वाद का चला जाना या बदल जाना

बहती नाक

सिरदर्द

थकान 

छींक आना

गले में खराश


अगर आपको लगता है कि आपको कोविड हो सकता है, तो आपको तुरंत जांच करा लेनी चाहिए। कुछ लोग भले ही खुद ज़्यादा बीमार महसूस ना करें, लेकिन वो दूसरों को ख़तरे में ज़रूर डाल सकते हैं। 37.8C या उससे ज़्यादा तापमान होने का मतलब है कि आपको बुखार है। बुखार होने का मतलब ये नहीं है कि आपको कोरोना ही हुआ है, किसी भी तरह के संक्रमण से लड़ते वक़्त इस तरह का बुखार हो सकता है। 


खांसी और ओमिक्रॉन


अगर आपको ज़ुकाम या फ्लू है तो अन्य लक्षणों के साथ आपको खांसी भी हो सकती है।फ्लू आमतौर पर अचानक होता है और मरीज़ अक्सर खांसी के साथ मांसपेशियों में दर्द, ठंड लगने, सिरदर्द, थकान, गले में खराश और बहती या भरी हुई नाक की शिकायत करता है।  ये भयंकर सर्दी ज़ुकाम से भी बुरा होता है। 

ज़ुकाम धीरे-धीरे बढ़ता है और कम गंभीर होता है।हालांकि फिर भी वो आपको बीमार महसूस करा सकता है। खांसी के साथ छींके भी आ सकती हैं और गले में खराश और बहती नाक की समस्या हो सकती है। बुखार, ठंड लगने, मांसपेशियों में दर्द और सिरदर्द कम ही देखने को मिलता है। 


कोरोना वायरस वाली खांसी का मतलब है एक घंटे से ज़्यादा वक़्त तक लगातार खांसी होना, या 24 घंटे में तीन या उससे ज़्यादा बार खांसी के दौरे पड़ना। कोरोना वायरस के आम लक्षणों में छींकें आना शामिल नहीं है। इसलिए अगर आपको सिर्फ छींकें आ रही हैं, लेकिन साथ में बुखार, खांसी या स्वाद गंध का जाना जैसे लक्षण नहीं है तो आपको टेस्ट कराने की ज़रूरत नहीं है। हालांकि छींक के कण संक्रमण फैला सकते हैं, इसलिए छींकते वक़्त टीश्यू का इस्तेमाल करें। इस्तेमाल के बाद डस्टबिन में डाल दें और हाथ धो लें।


कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों में कई तरह के लक्षण होते हैं, वो हल्के या गंभीर दोनों तरह के लक्षण हो सकते हैं। हो सकता है किसी में बिल्कुल भी लक्षण ना हों, लेकिन फिर भी वो संक्रमण फैला सकते हैं। 


कोरोना वायरस के संपर्क में आने के बाद लक्षण दिखने में दो हफ़्ते लग सकते हैं, लेकिन आम तौर पर क़रीब पांच दिन लगते हैं। 

सांस लेने में दिक़्क़त होना कोरोना वायरस संक्रमण का एक ज़्यादा गंभीर लक्षण है।