होम > सेहत और स्वास्थ्य

खीरे के छिलके के उपयोग जिनके बारे में आपने कभी नहीं सुना होगा

खीरे के छिलके के उपयोग जिनके बारे में आपने कभी नहीं सुना होगा

खीरा एक अच्छा बहुमुखी फल होता है जिसको मनुष्य सैंडविच में, सलाद में, रायता में और सूप में भी पूरी तरह से आनंद उठा सकते हैं। बहुत से व्यक्ति इसका आनंद छीलने के बाद लेते हैं और छिलकों को फेंक देते हैं। खीरे के छिलके अधिक ही पौष्टिक होते हैं और मिनरल्स, एंटीऑक्सिडेंट, और विटामिन से भरे होते हैं। खीरे के छिलको को कभी भी फेंकना नहीं चाहिए और खीरे को छिलके के साथ खाना चाहिए। चलिए जानते है कुछ तरीके जिनसे खीरे के छिलको को रीसायकल कर सकते है।

 

हरा खीरे का पानी: अगर आप काउंटरटॉप प्लांट्स में कुछ तेज ग्रोथ देखना चाहते हैं तो यह आपकी काफी मदद करेगा। कुछ ताजे खीरे के छिलके लेकर उन्हें एक जार में दाल दें। फिर उसमे पानी भरें और ढक्कन से ढक दें, और छिलकों को 5 दिनों के लिए भीगने दें। 5 दिनों के बाद पानी को छान लें और छिलकों को फेंक दें। पौधों को स्वस्थ बनाने के लिए इस जादुई पानी का उपयोग करें, क्योंकि यह पानी फास्फोरस और पोटेशियम में समृद्ध है, जो स्वस्थ पौधे के विकास के लिए जरुरी हैं। इस खीरे के पानी को हर 3 सप्ताह में एक बार पौधों में दाला जा सकता है और आप के पौधे अधिक सुन्दर दिखाई देंगे।

 

कुकुम्बर पील ऐश: पौधों को उगाने के लिए खीरे की राख बहुत अच्छी तरह से काम करती है। खीरे की राख बनाने के लिए खीरे के छिलकों को धूप में सुखाएं और जब पूरी तरह अच्छे से सूख जाएं, तो माचिस की तीली से इन सूखे छिलकों को जला दें तब यह छिलके राख में बदल जायेंगे। छिलके की राख को उस मिट्टी में मिला दे जिसमें पौधा बढ़ रहा हो, यह पौधे की तेजी से वृद्धि में मदद करता है क्योंकि पोषक तत्व तेजी से जारी होते हैं।

 

खीरे के छिलके: छिलको को सीधे पौधे की मिट्टी में भी रखा जा सकता है लेकिन बस उन चींटियों से दूर रखना होगा जो पौधे की पत्तियों को खाकर पौधे को नुकसान पहुंचाती हैं। खीरे में जो एल्कलॉइड होता है वह नेचुरल रिपेलेंट का काम करता है। इस तरह, आपको अगर अपने पौधों को बचाना है तो खीरे के छिलके न फेंककर पौधों की मिट्टी में डालदे।