होम > सेहत और स्वास्थ्य

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच एम्स ने बताए इसके लक्षण, रहें सावधान

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच एम्स ने बताए इसके लक्षण, रहें सावधान

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार बेहद तेज हो गई है। बीते 24 घंटों में 1,41,986 नए कोविड मामले दर्ज किए। साथ ही इस घातक बीमारी से 285 लोगों की मौतें दर्ज की गईं। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी।


वहीं ओमिक्रॉन के मामले भी यहां लगातार बढ़ते जा रहे है। अब तक अमिक्रोन के कुल 3,071 मामले सामने आए हैं। ठीक होने वाले मरीज़ों की संख्या 1,203 है।


ओमिक्रॉन को लेकर अब सभी लोगों में डर हैं। ऐसे में हेल्थ एक्सपर्ट्स द्वारा समय-समय पर इसके लक्षणों के बारे में जानकारी दी जा रही है। हालांकि, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन एनालिसिस ने इस वेरिएंट के चार सबसे आम लक्षण बताए हैं जिसमें खांसी, थकान, कफ और नाक बहना है। वहीं, एम्स ने ओमिक्रॉन के पांच लक्षणों को सूचीबद्ध करते हुए इन्हें अनदेखा ना करने की चेतावनी दी है।


ओमिक्रॉन के लक्षण


सांस लेने में कठिनाई

ऑक्सीजन सैचुरेशन में गिरावट

सीने में लगातार दर्द/दबाव महसूस हो

मेंटल कन्‍फ्यूजन या या प्रतिक्रिया न दे पाएं

अगर लक्षण 3-4 दिन से ज्‍यादा रहें या बिगड़ते जाएं


कब हो क्वारंटाइन और आइसोलेट 


एक्सपर्ट्स के मुताबिक जिन्हें लगता है कि वे किसी ऐसे शख्स के संपर्क में आए हैं जो कि कोविड पॉजिटिव है और उन्हें वैक्सीन नहीं लगी हुई है, तो उन्हें खुद को तुरंत क्वारंटाइन कर लेना चाहिए।


इसके बाद देखना चाहिए कि लक्षण दिख रहे हैं या नहीं। अगर लक्षण नहीं दिखते हैं तो एक्सपर्ट की सलाह पर क्वारंटाइन से बाहर आ सकते हैं। वहीं, जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, भले ही उनका वैक्सीनेशन हुआ हो, उन्हें तुरंत आइसोलेट हो जाना चाहिए।