होम > सेहत और स्वास्थ्य

दिल की बीमारी को दूर करना है तो रोज चलें 10 हजार कदम, लें पर्याप्त नींद

दिल की बीमारी को दूर करना है तो रोज चलें 10 हजार कदम, लें पर्याप्त नींद

देश में हृदय रोग लगातार अपने पैर पसार रहा है। बढ़ती उम्र के लोगों के अलावा युवा भी दिल की बीमारियों की चपेट में आ रहे है। हाल ही में आई इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और लैंसेट की रिपोर्ट की मानें तो हृदय के मरीजों में 40 की उम्र वाले मरीजों की संख्या 20% पहुंच चुकी है। 


हृदय रोगियों की संख्या में इजाफा होने का मुख्य कारण खान-पान में गड़बड़ी, तनाव, वायु प्रदूषण, मोटापा, धूम्रपान और अल्कोहल का सेवन माना जाता है। वहीं भारत में हृदय रोगियों की बात करें तो यहां के लोगों को विकसित देशों के मुकाबले हृदय रोग 10 वर्ष पहले अपना शिकार बना रहा है।


उदाहरण के तौर पर विकसित देशों में हृदय रोगियों की औसत उम्र 63 वर्ष है जबकि भारत में हृदय रोगियों की औसत उम्र 53 वर्ष सामने आई है। यानी भारत में 10 वर्ष पहले ही लोग दिल की बीमारी का शिकार बन रहे है। 


हृदय रोग से बचने के लिए करें ये उपाय


डॉक्टरों की मानें तो हृदय रोग से बचाव के लिए कुछ जरूरी उपाय करने बहुत आवश्यक है। एम्स दिल्ली में हृदय रोग विभाग के डॉ. संदीप मिश्रा ने मीडिया को बताया कि रोजाना सात से 10 हजार कदम चलना चाहिए।


डॉक्टर दिल की बीमारी से बचने के लिए सप्ताह में पांच दिन 45 मिनट की एक्सरसाइज करने की सलाह देते है। ऐसी एक्सरसाइज करनी चाहिए जिसमें व्यक्ति का पसीना बहे। तेज वॉक करना भी फायदेमंद हो सकता है।


हृदय की बीमारी से बचने के लिए व्यक्ति को पर्याप्त नींद भी लेनी चाहिए।


रात भर जागने की बीमारी से पीड़ित हैं भारत के 40 लाख लोग

हैरत में डालने वाली बीमारी, दो साल की उम्र में नौ किलो का सिर