होम > शासन

विवाह व अन्य आयोजनों में अब शामिल हो सकेंगे सौ लोग

विवाह व अन्य आयोजनों में अब शामिल हो सकेंगे सौ लोग

उत्तर प्रदेश में दम तोड़ते कोरोना संक्रमण के बीच राज्य सरकार ने दुर्गा पूजा, नवरात्रि, विजयादशमी तथा दशहरा पर पूजा पंडालों को लगाने की सशर्त छूट दे दी है। कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करते हुये राम लीला का मंचन तथा इन त्योहारों पर पूजा पंडालों को लगाया जा सकेगा। इसके अलावा शादी तथा अन्य आयोजनों में पचास लोगों के एक समय पर एक होने की संख्या में ढील देते हुये इसे सौ कर दिया गया है। सरकार की तरफ से इस बारे में गाइड लाइन जारी कर दी है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी द्वारा जारी निर्देशों में कहा गया है कि दुर्गा पूजा पंडाल व रामलीला मंच के स्थापना की अनुमति प्रदान करते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि सार्वजनिक आवागमन प्रभावित न हो। मूर्तियों की स्थापना पारंपरिक परंतु खाली स्थान पर की जाए उनका आकार छोटा रखा जाए। 

उप्र के सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को प्रदेश सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल की उपलब्धियों का लेखा-जोखा संबंधी पुस्तिका का विमोचन किया जिसमें नरेंद्र मोदी ने सूबे की अर्थव्यवस्था में हुए सुधारों को लेकर टिप्पणी की है। मोदी ने कहा है कि आज उत्तर प्रदेश पूरे देश का नेतृत्व कर रहा है, इसके पीछे साढ़े चार वर्षों के दौरन सीएम योगी आदित्यनाथ का वह परिश्रम है, जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य से बाहर लाने के लिए दिन-रात मेहनत की और वह रिफॉर्म के जरिए परफॉर्म करते हुए उप्र को ट्रार्सफॉर्म करने के अपने मिशन में सफल रहे। उप्र में सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार के साढ़े चार वर्ष पूरे होने पर रविवार को लोकभवन में सीएम योगी ने सरकार की उपलब्धियों को दर्शाती 50 पृष्ठ की एक पुस्तिका और 16 पृष्ठ के फोल्डर का विमोचन किया। पुस्तिका में एक अन्य संदेश में मोदी ने कहा, गत साढ़े चार वर्षों में राष्ट्रीय पटल पर एक नया, सक्षम और समर्थ उत्तर प्रदेश उभरकर सामने आया है। कभी देश में पांचवें नंवर की अर्थव्यवस्था का दंश झेलने वाला उत्तर प्रदेश आज लगातार प्रयासों से दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बन गया है।

0Comments