होम > मनोरंजन > यात्रा

अगर आप इतिहास और संस्कृति में रुचि रखते हैं तो आप इस म्यूजियम को जरूर देखें

अगर आप इतिहास और संस्कृति में रुचि रखते हैं तो आप इस म्यूजियम को जरूर देखें

रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय का एक प्राचीन एवं प्रमुख महाविद्यालय है। इसकी स्थापना ब्रिटिश काल में सन १८३७ में हुई थी। पांचाल संग्रहालय एमजेपी रोहिलखंड विश्वविद्यालय बरेली का एक ऐतिहासिक हिस्सा है। जो विश्वविद्यालय, बरेली द्वारा विकसित एक छोटा संग्रहालय है। यहां हमारे पुराने इतिहास और कला को संग्रह कर के रखा गया है। यदि आप अपने इतिहास और संस्कृति के बारे में रुचि रखते हैं या जिज्ञासा है तो आप को अवश्य जाना चाहिए। यह बरेली शहर की सीमा से 5. 7 किमी की दूरी पर स्थित है।

संग्रहालय में प्राचीन चीजों को संरक्षित कर के रखा गया हैं। यह पर पीलीभीत के बीसलपुर गांव में वर्ष 2004-05 में अभयपुर में खोदाई के दौरान मिले प्राचीन कंकाल और बर्तन भी देखने के लिए रखे गए हैं। इस म्यूजियम में करीब दो से तीन हजार साल पुरानी ऐतिहासिक मूर्तियां, पांडुलिपि, मिट्टी व धातु के बर्तन, कपड़े, शस्त्र, प्राचीन मुद्रा आदि दुर्लभ सामग्री सुरक्षित करके रखी गई हैं। इस संग्रहालय को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान नहीं मिल सकी है। 

राज्य सरकार ने वर्ष 2013-14 में संग्रहालय के कायाकल्प व संरक्षण के लिए लाख रुपये का बजट भी जारी हुआ था। अब इस म्यूजियम को पर्यटन के दृष्टिकोण से बढ़ावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे हैं।

विश्वविद्यालय प्रशासन तैयारी कर रहा है कि इस संग्रहालय के  ऐतिहासिक व महत्वपूर्ण सामग्री की फोटोग्राफी कराकर एक-एक ब्योरा और जानकारी वेबसाइट पर अपलोड कर सके। इसमें संग्रहालय में रखी सभी सामग्री का ब्योरा और जानकारी मौजूद रहे।

पांचाल संग्रहालय का दौरा दिन के समय और केवल कार्य दिवसों में ही किया जा सकता है। यह शनिवार और रविवार को बंद रहता है। आपको एक बार अवश्य देखने आना चाहिए।