इन चट्टानों में है पति—पत्नी का रिश्ता, रस्सियों से आपस में हैं बंधे

इन चट्टानों में है पति—पत्नी का रिश्ता, रस्सियों से आपस में हैं बंधे

जापान (Japan) में फुटामी के पास दो चट्टानें हैं, जिन्हें आपस में पति—पत्नी (Husband and wife) का दर्जा दिया गया है। इनमें से एक आकार में बड़ी और दूसरी छोटी है। बड़ी चट्टान को पति और छोटी को पत्नी माना जाता है। ये दो चट्टानें आपस में कई टन वजनी रस्सियों से बंधी हुई हैं। धान के भूसे से बनी इन रस्सियों को शिमेनावा कहा जाता है। इस रस्सी को हर साल बदल दिया जाता है।

दुनिया के लिए यह बात भले ही अजीब हो, लेकिन जापान में लोग इसे काफी मानते हैं। उनके लिए यह एक पवित्र धार्मिक स्थल (religious place)  है। जापान में मान्यता है कि ये दो चट्टानें देवताओं के वंशज इजानगी और जन्म, जीवन और मृत्यु निर्धारित करने वाली देवी इजानामी के एक हो जाने का प्रतीक हैं। यहां लोग बड़ी संख्या में शादी की मनोकामनाएं लेकर आते हैं। जिस दिन साल में यह रस्सी बदली जाती है, उस दिन यहां त्यौहार (Festival) का माहौल होता है। बहुत बड़ा मेला लगता है, लोगों की खूब भीड़ होती है।

बता दें कि धार्मिक समागम करके साल में तीन बार मई, सितंबर और दिसंबर में यह रस्सी बदली जाती है। आपस में बंधे होने के कारण ही इन्हें 'मैरिड कपल्स' (Married Couples) का दर्जा दिया गया है।

0Comments