होम > मनोरंजन > हास्य

जोक्स- बहू रोए जा रही थी। सास ने पुचकारते हुए पूछा.....

 जोक्स- बहू रोए जा रही थी। सास ने पुचकारते हुए पूछा.....

एक बार फ़ोन की घंटी सुन कर जब मोनू ने फ़ोन उठाया तो दूसरी ओर से आवाज़ आयी।
हेल्लो, फ्रिज चल रहा है?
मोनू : हाँ, चल रहा है, आप कौन?
फोन करने वाला (कॉलर): तो फिर फ्रिज पकड़ लो, वर्ना भाग जायेगा।
कॉलर ने थोड़ी देर बाद दोबारा फोन किया।
“हेल्लो फ्रिज है?”
मोनू गुस्से से बोला: नहीं है।
कॉलर: कहा भी था पकड़ लो, भाग जायेगा।
-------------------------------------------------------------------------------------------------
मास्टर जी – ‘खुशी का ठिकाना न रहा’ इस मुहावरे का मतलब बताओ….
मोहन– खुशी घर वालों से छिपकर रोजाना अपने ब्वॉयफ्रेंड के मिलने जाती थी…
एक दिन उसके पापा ने ब्वॉयफ्रेंड के साथ देख लिया और
खुशी को घर से निकाल दिया…!
अब बेचारी खुशी का ठिकाना न रहा…!!!
मास्टर जी बेहोश…
-------------------------------------------------------------------------------------------------
मोहित– यार मैं अपनी बीवी से परेशान हो गया हूँ …. 
रोहित – क्यों, क्या हुआ…?.
मोहित– यार वो सारा दिन यूट्यूब पर पकवानों की रेसिपी देखती रहती है….
रोहित – हाँ तो इसमें दिक्कत क्या है…?.
मोहित– शाम को बनाती तो दाल-चावल ही है…!!!
-------------------------------------------------------------------------------------------------
बहू रोए जा रही थी। सास ने पुचकारते हुए पूछा –
क्यों बेटी, रो क्यों रही हो…?.
बहू – क्या मैं चुड़ैल जैसी दिखती हूं…?.
सास – नहीं, बिल्कुल नहीं…!!!.
बहू – क्या मेरी आंखें मेंढ़की की तरह हैं…?.
सास – नहीं तो….
बहू – क्या मेरी नाक पकौड़े जैसी है…?.
सास – नहीं….
बहू – क्या मैं भैंस जैसी मोटी और काली हूँ …?
सास – नहीं बेटी, बिल्कुल नहीं…
बहू – फिर सारे मोहल्ले के लोग क्यों कहते फिरते हैं कि
तू तो अपनी सास जैसी दिखती है…!!!
-------------------------------------------------------------------------------------------------
ऐसे जोक्स के लिए मेधज न्यूज़ को लाइक करे         -RC