होम > विशेष खबर

जानिए क्या हैं, मौनी अमावस्या तिथि, समय, महत्व और अनुष्ठान के बारे मे

जानिए क्या हैं, मौनी अमावस्या  तिथि, समय, महत्व और अनुष्ठान के बारे मे

मौनी अमावस्या, जिसे माघ अमावस्या भी कहा जाता है, इस वर्ष यह शनि अमावस्या के साथ है, जिसका विशेष महत्व है। भक्त मौन व्रत रखते हैं, जिसे मौन उपवास के रूप में जाना जाता है, क्योंकि मौनी शब्द का शाब्दिक अर्थ है मौन।

मान्यताओं के अनुसार, एक दिन बिना किसी से बात किए और खुद से जुड़ना अपने आप को समझने और नियंत्रण और धैर्य रखने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

मौनी अमावस्या की तारीख और समय-

मौनी अमावस्या 2023: 21 जनवरी 2023 दिन शनिवार

अमावस्या तिथि प्रारंभ: 21 जनवरी 2023 प्रातः 06:17 बजे

अमावस्या तिथि समाप्त: 22 जनवरी 2023 प्रातः 02:22 बजे

मौनी अमावस्या का महत्व-

इस दिन का अपना ही एक अलग महत्व है, क्योंकि हिंदू धर्म में जल को सबसे पवित्र रूप माना जाता है।  हिंदू धर्म में इस दिन पवित्र नदियां अमृत में बदल जाती है। ऐसा माना जाता है कि गंगा की पवित्र नदी में स्नान करना इस दिन काफी शुभ होता है। आज के दिन मान्यता हैं कि जो भी व्यक्ति आज नदी में स्नान करता  या उसका पानी पीता है।  मो मोक्ष और ज्ञान की ओर जाता है।

मौनी अमावस्या का अनुष्ठान-

इस दिन लोग अपने पूर्वजों का तर्पण और पिंडदान, श्राद्ध कर्म करते हैं।

पितृ दोष से छुटकारा पाने के लिए अनुष्ठानों का पालन किया जाता है।

इसलिए इस दिन पवित्र स्नान और पूजा-अर्चना की जाती है।

दान गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए किया जाता है।

नोट -
इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।