होम > मनोरंजन > यात्रा

जानिए गोरखपुर के सबसे विख्यात मंदिर के बारे में, जिसके पीठाधीश्वर हैं सीएम योगी

जानिए गोरखपुर के सबसे विख्यात मंदिर के बारे में,  जिसके पीठाधीश्वर हैं सीएम योगी

गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर भारत के पुराने मंदिरों में से एक है। गुरु गोरखनाथ के नाम पर उत्तरप्रदेश में गोरखपुर नगर है। गुरु गोरखनाथ ने यहीं पर अपनी समाधि ली थी। गोरखपुर में बाबा गोरखनाथ का एक भव्य और प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर नाथ पीठ का मुख्यलाय भी है। यह मंदिर नाथ योगियों का महत्वपूर्ण केंद्र है। यहां योग साधना और तपस्या सिखाई जाती है। गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्वर सीएम योगी आदित्यनाथ हैं। 

वर्तमान मंदिर का निर्माण महंत दिग्विजय नाथ और अवेद्यनाथ ने करवाया था। यह सम्पूर्ण मंदिर परिसर लगभग 52 एकड़ में फैला हुआ है। इस मंदिर का सबसे मुख्य आकर्षण ध्यान मुद्रा में गुरु गोरखनाथ की मूर्ति है। जो मंदिर के भीतर गोरक्षनाथ की संगमरमर की प्रतिमा, चरण पादुका के अलावा गणेश मंदिर, मां काली, काल भैरव और शीतला माता का मंदिर है। मंदिर में मकर संक्राति के समय प्रसाद के तौर पर खिचड़ी चढ़ाई जाती है।

गोरखनाथ मंदिर का खुलने का समय 

यह मंदिर प्रतिदिन सुबह 3.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक खुला रहता है। भक्तगण बाबा गोरखनाथ के मंदिर में आते है और उनकी पूजा-अर्चना करके उनसे आशीर्वाद लेते हैं।

गोरखनाथ मंदिर में कैसे पहुँचे ?

हवाई मार्ग से गोरखनाथ मंदिर में पहुँचने के लिये गोरखपुर हवाई अड्डे से टैक्सी या ऑटो टैक्सी के माध्यम से मंदिर तक पहुँच सकते हैं। यह मंदिर से लगभग 11 किलोमीटर है।

 रेल मार्ग से गोरखनाथ मंदिर में पहुँचने के लिये गोरखपुर रेलवे स्टेशन से ऑटो टैक्सी या टैक्सी से मंदिर परिसर तक पहुँच सकते हैं। रेलवे स्टेशन से मंदिर की दूरी लगभग 3.8 किलोमीटर है।