होम > विशेष खबर

आइए जाने मध्य प्रदेश के पन्ना राष्ट्रीय उद्यान के बारे में

आइए जाने मध्य प्रदेश के पन्ना राष्ट्रीय उद्यान के बारे में

पन्ना राष्ट्रीय उद्यान भारत के मध्य प्रदेश राज्य के पन्ना तथा छतरपुर जिले में स्थित है यह विश्व धरोहर खजुराहो से मात्र 57 किलोमीटर दूर है, यह भारत का 22वां तथा मध्य प्रदेश का पांचवां नेशनल पार्क है इसे पन्ना टाइगर रिजर्व के नाम से भी जाना जाता है। 

पन्ना टाइगर रिजर्व 576 वर्ग किलोमीटर में फैला है,1981 में इसे राष्ट्रीय उद्यान के रूप में स्थापित किया गया तथा सन 1994 में पन्ना टाइगर रिजर्व के रूप में मान्यता मिली, बाघों से आबाद रहने वाला पन्ना टाइगर रिजर्व सन 2009 में बाघ विहीन हो गया था उसके बाद 'पन्ना बाघ पुनर्स्थापना योजना' के तहत इसमें पुनः बाघ लाये गए, पन्ना राष्ट्रीय उद्यान में बाघ के आलावा तेंदुआ, चिंकारा, नीलगाय, चीतल हिरन, भालू तथा 200 से अधिक प्रजातियों के पक्षियों के घर पाए जाते हैं यहाँ लाल सिर वाला गिद्ध और बार हेडेड हंस पाए जाते हैं। 

पन्ना टाइगर रिजर्व के बीच से होकर केन नदी बहती है, केन नदी यहाँ के 55 किलोमीटर तक रास्ते से होकर गुजरती है इस नदी की वजह से यह उद्यान और भी ज्यादा सुन्दर लगता है, यहाँ के झरने, घाटियाँ तथा गुफाएँ प्राकृतिक सुंदरता का एहसास करती हैं, यह उद्यान उष्णकटिबंधीय एरिया में आता है जिसकी वजह से यहाँ गर्मियों मौसम में बहुत गर्मी होती है तथा सर्दियों में यहाँ का मौसम बहुत सुहावना रहता है तथा मानसून में यह हरियाली से भर जाता है, पन्ना टाइगर रिजर्व को 2007 में उत्कृष्ट नेशनल पार्क का पुरस्कार पर्यटन मंत्रालय द्वारा प्रदान किया गया।