होम > विशेष खबर

आइये जाने डॉ. सीवी आनंद बोस के बारे में जिन्हे बनाया गया है पश्चिम बंगाल का राज्यपाल

आइये जाने डॉ. सीवी आनंद बोस के बारे में जिन्हे बनाया गया है पश्चिम बंगाल का राज्यपाल

राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने डॉ. सीवी आनंद बोस को पश्चिम बंगाल का राज्यपाल नियुक्त किया है, बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी प्रेस विज्ञप्ति द्वारा राष्ट्रपति भवन से दी गई, जगदीप धनखड़ के इस्तीफे के बाद मणिपुर के राज्यपाल एल गणेशन को पश्चिम बंगाल के गवर्नर का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया था, डॉ. सीवी आनंद बोस का कार्यकाल उनके पदभार ग्रहण के साथ ही तत्काल प्रभाव से प्रारम्भ हो जायेगा।

1977 बैच के रिटायर्ड आई.ए.एस. है  डॉ. सीवी आनंद बोस

डॉ. सीवी आनंद बोस का जन्म 02 जनवरी 1951 को केरल के मन्नानम कोट्टायम में हुआ था, उन्होंने BITSAT पिलानी से पीएचडी तथा केरल विश्वविद्यालय से अंग्रेजी भाषा और लिटरेचर से MA किया वे 1977 बैच के आई.ए.एस.अधिकारी हैं, सिविल सेवा में उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री के सचिव, वन पर्यावरण, शिक्षा, श्रम, राजस्व, तथा अन्य कई मंत्रालयों में मुख्य सचिव के तौर पर कार्य किया है, डॉ. आनंद बोस लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन मसूरी जो की आई.ए.एस. अधिकारीयों को प्रशिक्षित करता है वहां के फेलो रह चुके हैं।

डॉ. आनंद बोस को कई राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार मिल चुके हैं

डॉ. आनंद बोस ने अंग्रेजी, मलयाली तथा हिंदी भाषा में 40 किताबें लिखी हैं उन्होंने कविताएं, छोटी कहानियां तथा उपन्यास लिखे उन्होंने समाचार पत्रों में स्तम्भकार की भूमिका भी निभाई है उन्हें राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर के कई पुरस्कार मिल चुके हैं, साहित्य के अलावा उन्होंने अफोर्डेबल हाउसिंग के कॉन्सेप्ट पर काम किया जो मोदी सरकार में एक विकास एजेंडा था, आवास के क्षेत्र में उनके काम के लिए UN ने उन्हें चार बार 'ग्लोबल बेस्ट प्रैक्टिस' के रूप में चुना।