उत्तर प्रदेश में पीतल से अनेक आकर्षक उत्पाद बनाए एव निर्यात किए जाते है

उत्तर प्रदेश में पीतल से अनेक आकर्षक उत्पाद बनाए एव निर्यात किए जाते है

मुरादाबाद को “पीतल नगरी” के नाम से जाना जाता है। यहाँ निर्मित पीतल के उत्पाद भारत की संस्कृति, विरासत, इतिहास एवं विविधता को दर्शाते हैं। यहाँ पीतल से निर्मित उत्पादों की सजावट के लिए विभिन्न डिजाइनों एवं आकृतियों का इस्तेमाल होता है जिनकी प्रेरणा विभिन्न हिंदू देवी-देवताओं, मुग़ल काल की चित्रकारी इत्यादि से ली जाती है। जिले में स्थित विभिन्न घरेलू इकाइयां एवं बड़े उद्योग धातु की वस्तुओं का उत्पादन करते हैं। हस्तशिल्प धातु वस्तुओं को धोने, आकार देने और चमकाने का काम घरेलू इकाइयों में किया जाता है। अब जिले के निर्यातकों ने अन्य धातुओं पर भी कार्य करना शुरू कर दिया है जैसे कि एल्यूमीनियम, स्टेनलेस स्टील, लोहा आदि।

मुरादाबाद उत्तर प्रदेश का एक जनपद है जो मुरादाबाद मंडल का भाग है। मुरादाबाद नगर इसका जिला मुख्यालय है। यह भारत की राजधानी नई दिल्ली से 167 किलोमीटर की दूरी पर रामगंगा नदी के किनारे स्थित है। मुरादाबाद भारी मात्रा में पीतल से बने हस्तशिल्प को उत्तरी अमेरिका तथा यूरोप में निर्यात करने के लिए विश्व भर में जाना जाता हैं इसलिये इसे “पीतल नगरी भी कहा जाता है।

0Comments