होम > विशेष खबर

FDI पर NRI भारी, विदेशों से भारतीयों ने भेजे 8 लाख करोड़ रूपये यह FDI से 25 प्रतिशत ज्यादा

FDI पर NRI भारी, विदेशों से भारतीयों ने भेजे 8 लाख करोड़ रूपये यह FDI से 25 प्रतिशत ज्यादा

विदेशों में रह रहे भारतीयों ने इस वर्ष लगभग 100 अरब डालर भेजे हैं यह धनराशि भारतीय शेयर बाजार में कुल प्रत्यक्ष विदेशी निवेश से भी ज्यादा है, विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार यह एक रिकार्ड है जब कोई देश इस आंकड़े तक पहुंचा है तथा भारत दुनिया में सबसे ज्यादा रेमिटेंस प्राप्त करने वाला देश है।

क्या है रेमिटेंस तथा भारत में सबसे ज्यादा कहाँ से आता है

अपने देश से कोई नागरिक किसी दूसरे देश में जाता है और वहां पर वह जो आय अर्जित करता है जिसे वह अपने देश भेजता है उसे ही रेमिटेंस कहते हैं।  भारत में प्राप्त होने वाल रेमिटेंस में इस वर्ष सबसे ज्यादा योगदान अमेरिका का है इसके अलावा खाड़ी देशों जैसे सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, कुवैत, ओमान और कतर तथा UK, सिंगापुर, जापान, ऑस्ट्रेलिया तथा न्यूजलैंड से रेमिटेंस प्राप्त होता है।

कौन से देश सबसे ज्यादा रेमिटेंस प्राप्त करते हैं

विश्व बैंक की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में सबसे ज्यादा रेमिटेंस प्राप्त करने वाला देश भारत है जो लगभग 100 अरब डॉलर प्राप्त करता है, दूसरा नंबर मैक्सिको का है जो 60 अरब डालर, तीसरा स्थान चीन का है जो 51 अरब डॉलर, फिलिफिंस 38 अरब डॉलर तथा मिश्र 32 अरब डॉलर प्राप्त करता है।

भारतीयों ने 2021 में भेजे थे 87 अरब डॉलर

2021 में भारतीयों ने लगभग 87 अरब डॉलर भारत में भेजे थे जिसमे सबसे ज्यादा धन USA से भेजा गया था अगर बात 2020 की की जाये तो 83 अरब डॉलर रेमिटेंस प्राप्त हुआ था, कुछ वर्ष पहले भारत में रेमिटेंस खाड़ी देशो से ज्यादा आता था लेकिन अब भारतीय अच्छे क्वालिफिकेशन के कारण अन्य देशों से ज्यादा पैसा कमाते है।