होम > राज्य > कर्नाटक

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते पडोसी राज्यों ने केरल के यात्रियों पर लगाया प्रतिबंध

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते पडोसी राज्यों ने केरल के यात्रियों पर लगाया प्रतिबंध

चेन्नई | देश में कोरोना के कुल दैनिक मामलों में आधे से अधिक अकेले करला से दर्ज किये जा रहे हैं।  ये सभी के लिये चिंता का विषय बना हुआ हैं। खासकर पड़ोसी राज्यों कर्नाटक और तमिलनाडु के लिये। केरल में शनिवार को दैनिक मामलों की संख्या 20,624 को छू गई और पॉजिटिविटी दर 12.31 प्रतिशत बनी हुई है।

अब इस उछाल को देखते हुए  पड़ोसी राज्यों कर्नाटक और तमिलनाडु ने इसके लिए कड़े कदम उठाए हैं और केरल से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। कर्नाटक, राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक बयान के अनुसार, केरल के यात्रियों को यात्रा के 72 घंटों के भीतर आरटी-पीसीआर निगेटिव टेस्ट होने पर ही यात्रा की अनुमति होगी। कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट रूप से कहा कि राज्य यात्रियों को निगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट के बिना अनुमति नहीं देगा, भले ही उन्होंने टीकों की दो खुराक क्यों ना ली हों।

इस बीच, तमिलनाडु ने उन यात्रियों को अनुमति दी है, जिनके पास या तो निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट है या जिन्होंने टीके की एक खुराक ली है।

दोनों पड़ोसी राज्य - कर्नाटक और तमिलनाडु - केरल से आने वाले यात्रियों की रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों और बस स्टेशन पर जांच कर रहे हैं, जहां अंतरराज्यीय बसें आती हैं। कर्नाटक ने पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में राज्य के सभी चेक पोस्टों पर एक विशाल पुलिस चौकी तैनात की है।

तमिलनाडु ने वालयार और कालियाक्कविलाई में सीमाओं पर पुलिस बल भी तैनात किया है।

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री, मा सुब्रमण्यम ने आईएएनएस को बताया, कि तमिलनाडु सरकार नए कोविड -19 मामलों को कम करने के लिए सख्त कदम उठा रही है और इसलिए, अन्य राज्यों से राज्य का दौरा करने वाले यात्रियों को यहां लागू किए गए सख्त प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

"हम यात्रा के 72 घंटों के भीतर आरटी-पीसीआर निगेटिव प्रमाण पत्र या उन यात्रियों के लिए टीके की कम से कम एक खुराक के साथ एक कोविड प्रमाण पत्र पर जोर दे रहे हैं, जो उन राज्यों से तमिलनाडु पहुंचते हैं जहां कोविड -19 मामले अधिक हैं।"

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य के अधिकारियों को कोविड -19 मामलों की संख्या की सख्ती से निगरानी करने और संक्रमण को रोकने के उपाय करने का निर्देश दिया है।

0Comments