अहम विषयों की चर्चा का मंच बनेगा ओपी जिंदल यूनिवर्सिटी का शिखर सम्मेलन, उपराष्ट्रपति करेंगे उद्घाटन

अहम विषयों की चर्चा का मंच बनेगा ओपी जिंदल यूनिवर्सिटी का शिखर सम्मेलन, उपराष्ट्रपति करेंगे उद्घाटन

नई दिल्ली| देश और दुनिया में शिक्षा व्यवस्था और इसके मौजूदा हाल पर चर्चा करने के लिए वर्ल्ड यूनिवर्सिटी शिखर सम्मेलन का आयोजन होगा। इस सम्मेलन का आयोजन ओपी जिंदल यूनिवर्सिटी की ओर से किया जाएगा। इस सम्मेलन का उद्देश्य है कि महामारी जैसे संकट के समय में समुदाय में योगदान देने में विश्वविद्यालयों की भूमिका को परिभाषित किया जाए। दुनिया भर के विश्वविद्यालयों को इससे एक मंच मिलेगा। ये जानकारी दी ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के संस्थापक कुलपति सी. राज कुमार ने। 


उन्होंने आगे कहा कि 21 जुलाई से 23 जुलाई के बीच होने वाले इस सम्मेलन में 25 से अधिक देशों के 150 विचारक हिस्सा लेंगे। इस दौरान कई अहम विषयों पर चर्चा होगी। 


बता दें कि इस सम्मेलन का उद्घाटन उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू करेंगे। इस दौरान केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के अध्यक्ष डीपी सिंह और ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के संस्थापक चांसलर नवीन जिंदल सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित होंगे।


इस समिट में 6 महाद्वीपों और 25 देशों के 150 थॉट लीडर्स भाग लेंगे। शिखर सम्मेलन में 100 से अधिक विश्वविद्यालयों के संस्थागत प्रमुखों का प्रतिनिधित्व किया जाएगा, जिसमें 31 कुलपति, 28 अध्यक्ष और रेक्टर, 21 प्रोवोस्ट, उप/एसोसिएट/कार्यकारी कुलपति और उपाध्यक्ष/एसोसिएट प्रोवोस्ट, 25 डिप्टी/वाइस/एग्जीक्यूटिव/प्रेसिडेंट और रेक्टर शामिल होंगे। इसके लिए 34 सत्रों की योजना बनाई गई है, जिनमें 27 विषयगत सत्र, 2 विशेष संवाद, 2 विशिष्ट सार्वजनिक व्याख्यान और 3 मुख्य भाषण सम्मिलित हैं।


इस शिखर सम्मेलन में ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, कोलंबिया, इक्वाडोर, फ्रांस, जर्मनी, घाना, हांगकांग एसएआर, भारत, इजराइल, इटली, जापान, मलेशिया, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, रूस, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, स्पेन, ताइवान, थाईलैंड , नीदरलैंड, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रमुख विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के प्रतिनिधि भाग लेंगे।


ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी ने इस समारोह के लिए 6 ग्लोबल एजुकेशन नेटवर्क्सय के साथ साझेदारी की है - इनमें एसोसिएशन ऑफ कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटीज (एसीयू), एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज (एआईयू), कोसेर्रा, इंटरनेशनल कोऑपरेशन ग्रुप ऑफ ब्राजीलियन यूनिवर्सिटीज (जीसीयूबी), स्टार स्कॉलर्स नेटवर्क और अपग्रेड शामिल हैं।


इस शिखर सम्मेलन में दुनिया भर के विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा से संबंधित 30 से अधिक विषयों पर चर्चा की जाएगी। इसमें राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के वरिष्ठ नेतृत्वों की उपस्थिति होगी, जैसे कि एसोसिएशन ऑफ कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटीज (एसीयू), वल्र्ड बैंक, एसोसिएशन ऑफ अमेरिकन यूनिवर्सिटीज एंड कॉलेजेज, अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ कम्युनिटी कॉलेज, टाइम्स हायर एजुकेशन, क्वाक्वेरेली साइमंड्स, इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ यूनिवर्सिटीज, वल्र्ड वाइड फंड, सोसाइटी फॉर ट्रांसनैशनल एकेडमिक रिसर्च (स्टार) नेटवर्क।


कई दिग्गजों का होगा लेक्चर 


विशिष्ट सार्वजनिक व्याख्यानों, मुख्य भाषणों और विशेष भाषणों के लिए दुनिया भर के प्रख्यात विचारकों की उपस्थिति से इस कार्यक्रम की और शोभा बढ़ाई जाएगी। इनमें मेंबर ऑफ पार्लियामेंट शशि थरूर, बोस्टन कॉलेज में सेंटर फॉर इंटरनेशनल हायर एजुकेशन संस्थापक निदेशक फिलिप जी.अल्टबैक, राष्ट्रमंडल विश्वविद्यालयों के संघ के महासचिव जोआना न्यूमैन, भारतीय विश्वविद्यालय संघ के महासचिव पंकज मित्तल, समेत कई दिग्गज शामिल है।


2Comments