प्रदेश में स्थापित जन सेवा केन्द्रों के माध्यम से भी कराया जायेगा श्रमिकों का ऑनलाइन पंजीकरण

प्रदेश में स्थापित जन सेवा केन्द्रों के माध्यम से भी कराया जायेगा श्रमिकों का ऑनलाइन पंजीकरण

प्रदेश सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का ऑनलाइन पंजीकरण राज्य में स्थापित जन सेवा केन्द्रों के माध्यम से भी कराने का निर्णय लिया है। उ0प्र0 राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड की सेवाओं को ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल (https://edistrict.up.gov.in) के माध्यम से समस्त जन सेवा केन्द्रों द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा।

अपर मुख्य सचिव श्रम एवं सेवायोजन  सुरेश चन्द्रा ने इस संबंध में सभी मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि श्रमिक पंजीकरण संबंधी दिशा निर्देशों को शीर्ष प्राथमिकता पर लागू करें। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड द्वारा प्रदेश के असंगठित क्षेत्र के कामगारों के ऑनलाइन पंजीकरण हेतु पोर्टल  (www.upssb.in) का विकास किया गया है, जिसका शुभारम्भ मुख्यमंत्री द्वारा 09 जून, 2021 को किया गया है।

अपर मुख्य सचिव ने कहा कि प्रेदश में स्थापित सभी जन सेवा केन्द्रों द्वारा इलेक्ट्रानिक डिलीवरी के माध्यम से सेवाओं को प्रदान किये जाने हेतु समस्त आवश्यक कार्यवाहियॉ जिसमें इन्टीग्रेशन, प्रशिक्षण सम्बन्धी सामग्री आदि को पूर्ण कराना सुनिश्चित किया जाना है। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड की चयनित सेवाओं को ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल से इन्टीग्रेट करने के लिए एन0आई0सी0/एस0ई0एस0टी0 की तकनीकी टीम से समन्वय स्थापित करने के लिए उप श्रमायुक्त शमीम अख्तर को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल से इन्टीग्रेशन के पश्चात सभी सम्बन्धित स्टेक होल्डर्स द्वारा पायलेट आधार पर टेस्ट रन की कार्यवाही की जायेगी, जिससे कि गो-लाईव के उपरान्त सेवाओं को प्रदान करने में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पडे़।

उन्होंने बताया कि उ0प्र0 राज्य सामाजिक सुरक्ष बोर्ड में ऑनलाइन पंजीकरण कराने हेतु जन सेवा केन्द्रों पर आवेदक से शासन के नियमानुसार पंजीकरण, अंशदान एवं योजनाओं हेतु आवेदन के लिए 30 रूपये यूजर चार्ज लिया जायेगा। जन सेवा केन्द्र संचालक ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर लॉगिन करेगा तथा विभागीय पोर्टल पर सम्बन्धित ई-फार्म एवं आवश्यक संलग्नकों को अपलोड करेगा। आवेदन भरने के पश्चात आवेदक 60 रूपये का भुगतान ऑनलाइन या ऑफलाइन चालान के माध्यम से किया जायेगा। ऑनलाइन पंजीकरण पूर्ण होने के पश्चात जन सेवा केन्द्र संचालक द्वारा पावती रसीद भी आवेदक को उपलब्ध कराई जायेगी।

3Comments