राष्ट्रपति ने प्रयागराज में रखी विधि विश्वविद्यालय, उच्च न्यायालय परिसर की आधारशिला

 राष्ट्रपति ने प्रयागराज में रखी विधि विश्वविद्यालय, उच्च न्यायालय परिसर की आधारशिला

देश के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शनिवार को प्रयागराज का दौरा किया और उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय और इलाहाबाद उच्च न्यायालय के नए भवन परिसर की नींव रखी। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बमरौली हवाईअड्डे पर राष्ट्रपति का स्वागत किया। हवाई अड्डे पर राष्ट्रपति के स्वागत के लिए राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, सांसद रीता बहुगुणा जोशी और अन्य स्थानीय विधायक भी मौजूद थे।


इलाहाबाद उच्च न्यायालय के नए परिसर में एक बहु-स्तरीय पार्किंग सुविधा, एक अधिवक्ता कक्ष पुस्तकालय और एक सभागार भी शामिल है। उत्तर प्रदेश सरकार के मुताबिक, बिल्डिंग कॉम्प्लेक्स में कोर्ट के वकीलों के लिए करीब 2,600 चेंबर होंगे। पूरे प्रोजेक्ट के लिए करीब 6,000 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं।


दूसरी ओर, उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय का निर्माण प्रयागराज के झालवा क्षेत्र में किया जा रहा है।


केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू, भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) एनवी रमना और अन्य वरिष्ठ न्यायाधीशों ने भी आज अपनी उपस्थिति के साथ शिलान्यास समारोह में भाग लिया। राष्ट्रपति द्वारा संस्था के लिए पट्टिका का अनावरण करने के बाद केंद्रीय मंत्री रिजिजू ने कहा कि प्रयागराज संस्कृति और शिक्षा का केंद्र है और यह इस भावना को बढ़ाता है कि न्यायपालिका को हमेशा अपने दृष्टिकोण में स्वतंत्र रहना चाहिए।


उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि भारत दुनिया की मध्यस्थता का केंद्र बने। आम आदमी को न्याय की शीघ्र और समय पर डिलीवरी हमारा लक्ष्य है। मैं यह सुनिश्चित करता हूं कि केंद्र सरकार न्यायपालिका को मजबूत करने के लिए पूरी ताकत से काम कर रही है।”


0Comments