होम > व्यापार और अर्थव्यवस्था

गैस चोरी रोकने के लिए एलपीजी सिलेंडर पर अब लगेगा क्यूआर कोड

गैस चोरी रोकने के लिए एलपीजी सिलेंडर पर अब लगेगा क्यूआर कोड

देश में लगभग 30 करोड़ एलपीजी उपभोक्ता है, जबकि गैस सिलेंडरों की संख्या करीब 70 करोड़ है। इनमें सबसे अधिक ग्राहक इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के पास हैं। देश में जैसे-जैसे गैस की कीमतों में इजाफा हो रहा है, सिलेंडरों से अवैध तरीके से गैस निकालने के मामले भी बढ़ रहे हैं। इस समस्या हल करने के लिए नयी तकनिकी का इस्तेमाल करने का फैसला केंद्रीय मंत्री ने लिया है जो कि आने वाले कुछ दिनों में आपके  घर पहुुचने वाले एलपीजी सिलेंडर पर भी  क्यूआर कोड लगा होगा। सरकार ने  एलपीजी गैस सिलेंडर पर क्यू आर कोड लगाने का फैसला इसलिए लिया है ताकि आपके घर तक सिलेंडर पहुचाने की प्रक्रिया के दौरान एजेंसी के द्वारा उससे गैस ना निकाली जा सकें।


देश में 30 करोड़ हैं एलपीजी उपभोक्ता,
 
माना जा रहा है कि इनमें सबसे अधिक ग्राहक इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के पास हैं। देश में जैसे-जैसे गैस की कीमतों में इजाफा हो रहा है, सिलेंडरों से अवैध तरीके से गैस निकालने के मामले भी बढ़ रहे हैं। इस अवैध गैस निकालने के मामलो में सुधार लाने के लिए इसी क्रम में सरकार ने सिलेंडरों को क्यूआर कोडयुक्त करने का फैसला लिया है। क्यूआर कोड युक्त सिलेंडर होने से उपभोक्ताओं को गैस की चोरी होने की स्थिति में मदद मिलेगी। इसकी मदद से ग्राहकों के सिलेंडर को ट्रैक किया जा सकेगा, जिससे सिलेंडर वितरण की प्रक्रिया के दौरान गैस चोरी करने वालो की पहचान हाे सकेगी।

आधार कार्ड की तरह काम करेगा क्यूआर कोड
 
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इस बात की जानकारी साझा करते हुए कहा है कि सरकार सभी एलपीजी गैस सिलेंडरों को क्यूआर कोड से लैस करने जा रही है। ऐसा होने से गैस सिलेंडरों की ट्रैकिंग आसान होगी और गैस चोरी करने वालों को पकड़ा जा सकेगा। दूसरे शब्दों में कहें तो ये क्यूआर कोड बिल्कुल उसी तरह से काम करेगा, जैसे एक व्यक्ति की पहचान के लिए आधार कार्ड काम करता है। सरकार के इस फैसले से आने वाले समय में क्यूआर कोड से लैस हर सिलेंडर की अपनी एक अलग पहचान होगी और ग्राहकों को भी मिलने वाली सिलेंडर गैस भी पूरी होंगी ।

आने कुछ महीनो में सभी सिलेंडरों पर लग जाएंगे क्यूआर कोड

विश्व एलपीजी सप्ताह 2022 के दौरान केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने इस प्रोजेक्ट के बारे में बताते हुए कहा कि आने वाले तीन महीनों में सभी एलपीजी गैस सिलेंडरों पर क्यूआर कोड लग जाएगा। मतलब आने वाले वर्ष  कि फरवरी 2023 से आपके घर पर क्यूआर कोड से लैस सिलेंडर पहुंचेगा। उसके बाद अगर सिलेंडर में गैस चोरी की शिकायत आती है तो क्यू आर कोड होने से अवैध तरीके से सिलेंडर से गैस निकालने वाले की पहचान हो सकेगी।

ये निर्णय सरकार का एक ऐतिहासिक निर्णय माना जा सकता है और उपभोग्ताओ के हित को ध्यान में रखते हुए ये एक अच्छा निर्णय हैं।